कैसे होता है ग्रहण, ग्रहण कब पड़ेगा और क्या हैं प्रथाएं, ग्रहण में क्या खाएं और क्या नहीं

जानिए सूर्य ग्रहण कैसे होता है? सूर्य ग्रहण कब है? ग्रहण के दौरान क्या खाएं और क्या नहीं? और ग्रहण के दौरान गर्भवति महिलाओं को किस तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए?

कैसे होता है ग्रहण, ग्रहण कब पड़ेगा और क्या हैं प्रथाएं, ग्रहण में क्या खाएं और क्या नहीं

सूर्य ग्रहण कैसे होता है (How Solar Eclipse Occurs)? पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमती है और वह इसके साथ ही साथ सूर्य के चक्कर भी लगाती है. जिस तरह धरती सूरज की परिक्रमा करती है ठीक उसी तरह चंद्रमा पृथ्वी का उपग्रह है और उसके चक्कर लगता है. एक तरह जब दोनों अपनी-अपनी धूरी पर परिक्रमा करते हैं और कभी चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच में आ जाता है तो पृथ्वी पर सूर्य आंशिक या पूर्ण रूप से दिखना बंद हो जाता है. इसी पल को ग्रहण कहा जाता है.

क्या हैं सूर्य ग्रहण से जुड़ी प्रथाएं (Solar Eclipse Rituals) :
यह तो अब तक आप समझ ही चुके हैं कि सूर्य ग्रहण के दौरान चांद सूरत और धरती के बीच में आ जाता है जिससे सूर्य की किरणों का पृथ्वी तक पहुंच पाने में रुकावट आती है. हिंदू मान्यता और प्रथाओं के अनुसार जिस वक्‍त सूर्य ग्रहण होता है उसे सूतक कहा जाता है और सूतक के दौरान कई काम न करने की सलाह दी जाती है. इस दौरान खाना खाने और पकाने की मनाही होती है(Avoid Eating During Solar Eclipse).

partial solar eclipse

How Solar Eclipse Occurs: जानिए कैसे होते है सूर्य ग्रहण.

Sri Sri Tattva Panchakarma में सीनियर डॉक्टर मिताली मधुस्मिता कहती हैं कि ग्रहण शुरू होने के पहले या खत्म होने के बाद के दो घंटों में आप कुछ भी खा सकते हैं. जब सूर्य की किरणें नहीं होतीं तो बैक्टिरीया काफी सक्रिय होते हैं. जो खाने के पोषक तत्वों को प्रभावित कर सकते हैं और आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं. इतना ही नहीं इस दौरान खाना पकाने से भी बचना चाहिए. लेकिन इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि बीमार लोगों को इस दौरान पूरी तरह से उपवास भी नहीं रखना चाहिए.

1. कौन रख सकता है उपवास? वे लोग जो बीमार हैं या जो बुजुर्ग हैं उन्हें इस दौरान उपवास नहीं करना चाहिए. लेकिन वे इस दौरान हल्का सात्विक भोजन ले सकते हैं. जो पचने में आसान हो और पेट के लिए भी हल्के हों. इस दौरान खाने में आप मेवे ले सकते हैं. यह कम मात्रा में खाने पर भी शरीर को पूरी एनर्जी देंगे. 

2. पानी पी सकते हैं? मिताली कहती हैं कि इस दौरान पानी पीने से भी बचना चाहिए. क्योंकि सूर्य की किरणें न होने के चलते बैक्टिरीया एक्टिव होते हैं. डॉक्टर मधुस्मिता कहते हैं -'' अगर आप बीमार हैं या आप गर्भवती हैं तो आप हल्का गर्म पानी पी सकते हैं. इसमें 8-10 बूंदे तुलसी का जूस या पत्ते ड़ाल कर उबाल सकते हैं. इसके साथ ही अगर आप सादा पानी नहीं पीना चाहते तो नारियल का पानी पी सकते हैं. सबसे बेहतर यह होगा कि आप ग्रहण से पहले ही अच्छी मात्रा में पानी पी लें.

गर्मी में चेहरे की देखभाल कैसे करे? पढ़ें स्किन केयर टिप्स, गर्मियों में ग्लोइंग स्किन के उपाय, अपनाएं 4 फेस मास्क

3. ग्रहण में क्या न खाएं! (Eating Food During Eclipse) : डॉक्टर मधुस्मिता के अनुसार नॉन-वेज आहार इस दौरान बिलकुल नहीं लेना चाहिए. इस दौरान एल्कॉहोल, खमीर और हाई प्रोटीन फूड भी नहीं लेना चाहिए. यह पचाने में बहुत ही मुश्किल होता है.

4. ग्रहण के बाद (Eating Food During Eclipse) : ग्रहण के बाद आप अपनी सामान्य डाइट पर आ सकते हैं. इसके बाद फल खाना अच्छा साबित होगा. यह इसलिए अच्छा होता है क्योंकि फलों में काफी मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करेंगे और एनर्जी बूस्ट होगी.

5. ग्रहण के बाद कुकिंग: जब भी आप ग्रहण के बाद खाना पाकाएं तो आप चाहे जैसे इसे पका सकते हैं. लेकिन इसे सेहतमंद बनाने के लिए अच्छा होगा कि आप इसमें हल्दी का इस्तेमाल करें. यह आपकी immunity को बेहतर करेगी और overall health के लिए काफी अच्छी साबित होगी.

और खबरों के लिए क्लिक करें.

ये भी पढ़ें : 

Diabetes and Food: डायबिटीज में क्या खाएं और क्या न खाएं

पेट की गैस, दर्द, भारीपन और पेट की सूजन से राहत पाने के आयुर्वेदि‍क नुस्खे...

जानें क्या है ग्रीन टी पीने का सही समय और ग्रीन टी दिन में कितनी बार पीना चाहिए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इलायची के फायदे, कैसे High Blood Pressure को कंट्रोल करता है यह मसाला...