Karwa Chauth 2023: कब है करवा चौथ, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और किन व्यंजनों का लगता है भोग

Karwa Chauth 2023: हर साल कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ मनाया जाता है. आइए जानते है इस साल करवा चौथ के व्रत के दिन, पूजा का मुहूर्त, पूजा विधि और भोग के बारे में...

Karwa Chauth 2023: कब है करवा चौथ, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और किन व्यंजनों का लगता है भोग

इस तरह करें करवा चौथ की पूजा, जान लें शुभ मुहूर्त.

Karwa Chauth 2023: अखंड सुहाग के लिए रखे जाने वाले करवा चौथ (Karwa Chauth) व्रत का बहुत अधिक महत्व है. करवा चौथ के दिन महिलाएं चांद निकलने तक व्रत (Varth) रखती हैं और पति की लंबी आयु के लिए सोलह श्रृंगार कर चंद्रदेव और करवे की पूजा करती हैं. हर वर्ष कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को करवा चौथ मनाया जाता है. आइए जानते है इस साल करवा चौथ के व्रत के दिन, पूजा का मुहूर्त, पूजा विधि और भोग के बारे में...

करवा चौथ तिथि और शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth 2023 Date and Shubh Muhurt)

इस वर्ष कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 31 अक्टूबर मंगलवार को रात नौ बजकर तीस मिनट से शुरू होकर 1 नवंबर को रात नौ बजकर उन्नीस मिनट तक है. ऐसे में उदया तिथि के अनुसार करवा चौथ्र का व्रत 1 नवंबर बुधवार को रखा जाएगा.  करवा चौथ की पूजा 1 नवंबर को शाम पांच बजकर चौवालीस मिनट से सात बजकर दो मिनट तक की जा सकती है. उस दिन चंद्रोदय आठ बजकर छब्बीस मिनट पर होगा.

पूजा विधि (Karwa Chauth Puja Vidhi)

करवा चौथ के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करें और व्रत का संकल्प लें.  पूरे दिन निर्जला व्रत रखें. पूजा की सामग्री एकत्र कर लें. मिट्टी से गौरी और गणेश बनाएं. माता गौरी को सुहाग की चीजें चूड़ी, बिंदी, चुनरी, सिंदूर अर्पित करें. करवा में गेहूं और उसके ढक्कन में चीनी का बूरा रखें. रोली से करवा पर स्वास्तिक बनाएं. शाम में गौरी और गणेश की पूजा करें और कथा सुनें. रात्रि में चंद्रमा को देख पति से आशीर्वाद लें और व्रत का पारण करें.

हल्दी में मिलाकर लगा लें ये चीज, मोतियों की तरह चमकने लगेगी स्किन, कुछ ही दिनों में दिखेगा असर

महत्व और इतिहास

मान्यता है कि करवा चौथ का व्रत रखने के कारण माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाया था. यह व्रत महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और अखंड सुहाग के लिए रखती हैं.

पारण के व्यंजन

करवा चौथ में पारण के लिए कहीं हलवा पूरी और चूरमा तो कहीं आलू की सब्जी और पूरी बनाई जाती है. वहीं कहीं पर इस दिन दाल के फरे और कढ़ी भी बनती है. 

दांतों को मोतियों सा चमकदार बनाने के लिए गुनगुने पानी में मिलाएं सेंधा नमक और पाएं ओरल हेल्थ से जुड़ी इन समस्याओं से छुटकारा

आलू की सब्जी और पूरी

आलू की सब्जी बनाने के लिए पहले आलू उबाल लें. यह सब्जी बगैर लहसुन प्याज के टमाटर, अदरक, हरी मिर्च और धनिया पत्ती के पेस्ट से बनाई जाती है. कड़ाही गर्म होने पर घी डालें और जीरे से छौंक लगाएं. उसके बाद टमाटर, हरी मिर्च और अदरक का पेस्ट डाल दें. थोड़ी देर बाद जीरा पाडडर, धनिया पाउडर, हल्दी पाउडर और गरम मसाला डालकर फ्राई करें. अब उबले आलुओं को तोड़कर डाल दें और पानी डालकर पकने दें. धनिया के कटे पत्ते डालकर परोसें.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.)