बंगाल-आंध्र तट की ओर बढ़ा चक्रवात 'असानी', तेज बारिश की चेतावनी, 3 राज्यों में अलर्ट: 10 बड़ी बातें

बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी के ऊपर बना चक्रवात 'असानी' रविवार शाम को अधिक तीव्र होकर एक भीषण चक्रवाती तूफान में बदल गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने ये जानकारी दी.

बंगाल-आंध्र तट की ओर बढ़ा चक्रवात 'असानी', तेज बारिश की चेतावनी, 3 राज्यों में अलर्ट: 10 बड़ी बातें

मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि वे मंगलवार से अगली सूचना तक समुद्र पर न जाएं. (File photo)

नई दिल्ली: बंगाल की दक्षिण-पूर्वी खाड़ी के ऊपर बना चक्रवात 'असानी' रविवार शाम को अधिक तीव्र होकर एक भीषण चक्रवाती तूफान में बदल गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने ये जानकारी दी. इस तूफान के कारण आने वाले दिनों में आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार चक्रवात 'असानी'  के चलते ओडिशा में 10 मई को भारी बारिश होने की संभावना है. इसको लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है. 

  2. ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) पीके जेना ने कहा कि राज्य सरकार ने बचाव अभियान के लिए पर्याप्त व्यवस्था की है. उन्होंने कहा, ''हमें राज्य में कोई बड़ा खतरा दिखाई नहीं दे रहा है, क्योंकि यह पुरी के पास तट से करीब 100 किलोमीटर दूर से गुजर जाएगा.

  3. हालांकि राष्ट्रीय आपदा प्रक्रिया बल (एनडीआरएफ), ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल (ओडीआरएएफ) और दमकल सेवाओं के बचाव दल किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.

  4. पश्चिम बंगाल में 11 और 12 मई को भारी बारिश की संभावना. जबकि आंध्र प्रदेश में 10 और 11 मई को भारी बारिश होने वाली है.

  5. मौसम विभाग ने कहा, मंगलवार को 'असानी' के उत्तर आंध्र-ओडिशा तटों से पश्चिम-मध्य और उससे सटे उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में पहुंचने पर, उत्तर-पूर्व की ओर मुड़ने और ओडिशा तट से उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ने की संभावना है.

  6. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चक्रवात के कारण मिदनापुर और झारग्राम का दौरा टाल दिया है. वहीं 9 आपदा दल और 3 त्वरित प्रतिक्रिया दल को तैनात किया गया है. 

  7. रक्षा पीआरओ ने एक ट्वीट कर कहा कि मछुआरों को तूफान की सूचना देने और सर्तक रहने के लिए तट रक्षक विमानों और जहाजों का इस्तेमाल किया जा रहा है. आपदा प्रतिक्रिया दल स्टैंडबाय पर हैं.

  8. कोलकाता मौसम विभाग ने 10 से 12 मई के बीच बंगाल तट पर मछली पकड़ने और पर्यटन गतिविधियों पर रोक लगाने की सलाह दी है.

  9. कोलकाता सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि पूर्व मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना के प्रशासन सूखे भोजन और आवश्यक दवाओं की व्यवस्था के अलावा, निकासी की जरूरत होने पर चक्रवात आश्रयों, स्कूलों और अन्य पक्के ढांचे को तैयार कर रहे हैं.

  10. मौसम विभाग ने मछुआरों को सलाह दी है कि वे मंगलवार से अगली सूचना तक समुद्र और पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटों पर न जाएं. (भाषा इनपुट के साथ)