छेड़खानी का विरोध करने पर कॉलेज प्रबंधक ने महिला कर्मी को मारी गोली, 2 महीने बाद भी आरोपी फरार

इस मामले में बागपत पुलिस ने बताया कि काफी कोशिश के बाद भी आरोपी गिरफ्तार नहीं हो सका है. उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट लिया गया है. आरोपी ने भी कोर्ट में सरेंडर करने की अर्जी लगाई है.

छेड़खानी का विरोध करने पर कॉलेज प्रबंधक ने महिला कर्मी को मारी गोली, 2 महीने बाद भी आरोपी फरार

बागपत:

उत्तर प्रदेश के बागपत में कॉलेज में क्लर्क के तौर पर काम कर रही 22 साल की लड़की को पेट में गोली मार दी गई. पीड़िता के मुताबिक कॉलेज का प्रबंधक उसके साथ छेड़खानी करता था. इसका विरोध करने पर उसे प्रबंधक ने लाइसेंसी रिवॉल्वर से गोली मार दी.  घटना को 2 महीने हो चुके हैं, लेकिन बागपत पुलिस अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पीड़िता के पिता के मुताबिक वो बागपत के एक गांव में अपने परिवार के साथ रहते हैं. उनकी बड़ी बेटी बागपत के एक इंटर कॉलेज में क्लर्क है और छोटी बेटी उसी कॉलेज में 12वीं की छात्रा है. 

इसी साल 20 जुलाई को उनकी बड़ी बेटी जब काम कर रही थी, तो स्कूल के प्रबंधक नरेंद्र सिंह तोमर ने अपनी लाइसेंसी रिवॉल्वर से उसे जान से मारने की नियत से गोली मार दी. घटना करीब दिन में डेढ़ बजे की है, लेकिन उन्हें इसकी सूचना 4:30 बजे दी गई है. पीड़िता के मुताबिक आरोपी नरेंद्र उसके साथ छेड़खानी करता था जिसका उसने विरोध किया और इसके चलते उसे गोली मार दी गई. पीड़िता 5 दिन अस्पताल में रही. ऑपेरशन के बाद उसकी गोली निकाल दी गई. 

घरवालों के मुताबिक इलाज कराने के चलते उन्होंने अगले दिन यानि 21 जुलाई को इसकी शिकायत रमाला थाने में की. पुलिस ने हत्या की कोशिश यानि आईपीसी 307 में केस दर्ज किया. हालांकि, एफआईआर में छेड़खानी की बात नहीं लिखी है. घरवालों का कहना है कि जल्दबाजी में उस वक्त ये बात नहीं लिखाई, लेकिन बाद में पुलिस को ये सब बताया, इसके बाद भी 2 महीने बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई. 


पीड़िता के पिता का आरोप है कि केस वापस लेने का दबाब बनाने के लिए आरोपी ने उनके दोनों छोटे बच्चों का कॉलेज से नाम काट दिया और उनके ट्रांसफर सर्टिफिकेट घर भेज दिए. इसे लेकर उसने बागपत के एसपी से 5 सितंबर 2022 को शिकायत दी. यही नहीं न्याय पाने के लिए पीड़ित परिवार हाल ही में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने गया. हालांकि, मुख्यमंत्री से मुलाक़ात नहीं हो पाई लेकिन उनके कार्यालय में पीड़ित परिवार ने शिकायत दी है. साथ ही फैक्स के जरिये भी जानकारी दी है. 

वहीं, इस मामले में बागपत पुलिस ने बताया कि काफी कोशिश के बाद भी आरोपी गिरफ्तार नहीं हो सका है. उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट लिया गया है. आरोपी ने भी कोर्ट में सरेंडर करने की अर्जी लगाई है. आरोपी की लाइसेंसी रिवाल्वर का लाइसेंस कैंसिल कराने के लिए डीएम को पत्र लिख दिया गया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी पढ़ें -
-- कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर शशि थरूर पर पार्टी नेता ने परोक्ष रूप से किया कटाक्ष
-- मंगेतर की न्यूड तस्वीरें पोस्ट करने वाले बेंगलुरु के डॉक्टर को बदले में मिली मौत