गाजियाबाद बुजुर्ग पिटाई केस: धर्मेंद्र चतुर और पत्रकार समेत 5 लोगों को पुलिस ने भेजा दोबारा नोटिस

जिन लोगों को गाजियाबाद पुलिस ने नोटिस भेजा है, उनमें ट्विटर इंडिया के पूर्व शिकायत अधिकारी धर्मेंद्र चतुर, द वायर के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन के अलावा मकसुर उस्मानी, समा मोहम्मद और सलमान निजामी शामिल हैं.

गाजियाबाद बुजुर्ग पिटाई केस: धर्मेंद्र चतुर और पत्रकार समेत 5 लोगों को पुलिस ने भेजा दोबारा नोटिस

गाजियाबाद:

गाजियाबाद (Ghaziabad) में मुस्लिम बुजुर्ग पर हमले और उसका वायरल वीडियो से संबंधित मामले में यूपी पुलिस ने 5 लोगों को सेक्शन 41 के तहत दोबारा पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि सभी को परसों रात ईमेल के जरिए उन्हें नोटिस भेजा गया है. इसके अलावा डाक से भी उनके पते पर नोटिस भेजा गया है.

जिन लोगों को गाजियाबाद पुलिस ने नोटिस भेजा है, उनमें ट्विटर इंडिया के पूर्व शिकायत अधिकारी धर्मेंद्र चतुर, द वायर के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन के अलावा मकसुर उस्मानी, समा मोहम्मद और सलमान निजामी शामिल हैं.

इन सभी को लोनी बॉर्डर थाने में आकर पूछताछ में शामिल होने को कहा गया है. गाजियाबाद पुलिस ट्विटर इंडिया के हेड मनीष माहेश्वरी को भी तलब कर चुकी है. इन लोगों पर धार्मिक उन्माद फैलाने की कोशिश करने के आरोप हैं.


Twitter पर UP पुलिस ने क्यों किया धार्मिक हिंसा भड़काने वाला मामला दर्ज?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस की शिकायत है कि वीडियो पर आपत्ति होने के बावजूद ट्विटर ने उसे क्यों नहीं हटाया और उसे मैनिपुलेटेड टैग क्यों नहीं दिया? गौरतलब है कि पुलिस ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में हाल ही में एक मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई के मामले में "सांप्रदायिक अशांति फैलाने" के लिए ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक को कानूनी नोटिस भेजा था.