हत्या का आरोपी सात साल से भेष बदलकर रह रहा था, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

आरोपी संदीप की गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था, संभल के सिंघावली गांव में नाम बदलकर रह रहा था

हत्या का आरोपी सात साल से भेष बदलकर रह रहा था, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) के तिलक नगर इलाके में सात साल पहले एक बिजनेसमैन के मर्डर (Murder) में शामिल रहे सुपारी किलर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है. वह सात साल से भेष बदलकर रह रहा था. उसकी गिरफ्तारी पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था. बदमाश का नाम संदीप है. हत्या की यह वारदात दिनदहाड़े अंजाम दी गई थी. छानबीन के दौरान पुलिस को पता था चला कि आरोपी संभल के सिंघावली गांव में नाम-पता बदलकर छिपा हुआ है. पुलिस पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर रही है.


डीसीपी संजीव कुमार यादव के मुताबिक साल 2013 में जितेंद्र लांबा नाम के कारोबारी की तिलक नगर में दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी. 30 सितंबर को अंजाम दी गई इस वारदात में संदीप के साथ रवींद्र राठी, मुकेश सोनी, राजू बनारसी और अभिषेक सिंह भी शामिल थे. जांच में पता चला कि जितेंद्र के भाई राजेश लांबा ने ही 10 लाख रुपये की सुपारी देकर हत्या करवाई थी. पुलिस ने छानबीन के बाद सभी आरोपियों को पकड़ लिया, लेकिन संदीप फरार हो गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


स्पेशल सेल की टीम को पता चला कि आरोपी संदीप नाम व पता बदलकर संभल में छिपा हुआ है. पुलिस गांव सिंघावली, संभल पहुंची तो नैतिक सिं‌ह के नाम से मिले आरोपी ने खुद को गांव देवरिया, वाराणसी का बताया. बाद में उसने अपनी असली पहचान बताई. मूल रूप से आजमगढ़, यूपी के रहने वाले संदीप ने बताया कि वह 2007 में दिल्ली आया था. इसके बाद वह 2010 में वाराणसी चला गया. वहां से 2013 में वापस दिल्ली आकर सुपारी लेकर जितेंद्र नाम के कारोबारी की हत्या कर दी. वारदात के बाद वह संभल में छिपकर रहने लगा. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है.