धार्मिक यात्राओं के लिए हेलीकॉप्टर की फर्जी बुकिंग कर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 4 गिरफ्तार

गिरोह के लोग हेलीकॉप्टर टिकट बुकिंग के लिए एक नकली वेबसाइट बनाते हैं जो सरकार द्वारा अधिकृत एजेंटों की वेबसाइटों के समान लगती है और उन्हें उनके द्वारा खोले गए बैंक खातों में बुकिंग अमाउंट जमा करवाते हैं.

धार्मिक यात्राओं के लिए हेलीकॉप्टर की फर्जी बुकिंग कर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 4 गिरफ्तार

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल की आईएफएसओ यूनिट ने फर्जी हेलीकॉप्टर टिकट बुकिंग मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर मास्टरमाइंड और वेबसाइट डेवलपर समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पश्चिम बंगाल, बिहार और फिरोजाबाद से चल रहे एक ठगी करने वालों के सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है.

आरोपियों ने वैष्णो देवी, केदारनाथ और बद्रीनाथ यात्रा के लिए हेलीकॉप्टर टिकट बुकिंग की एक नकली वेबसाइट बनाई. इस वेबसाइटों के जरिए इन लोगों ने धार्मिक यात्राओं पर जाने की इच्छा रखने वाले लोगों के हेलीकॉप्टर के फर्जी टिकट बुक किये.

स्पेशल सेल के डीसीपी केपीएस मल्होत्रा के मुताबिक, साइबर क्राइम में कुछ अज्ञात व्यक्तियों के बारे में शिकायत मिली, जिन्होंने शिकायतकर्ताओं को माता वैष्णो देवी मंदिर, जम्मू जाने के लिए हेलीकॉप्टर टिकट बुक करने के बहाने ठगी की.

दिल्ली पुलिस ने साइबर स्टाकर को किया गिरफ्तार, लड़की का फर्जी अकाउंट बनाकर भेजता था अश्लील मैसेज

जांच के दौरान एनसीआरपी (नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल) का विश्लेषण किया गया और लगभग 112 शिकायतें उसी सिंडिकेट से जुड़ी पाई गईं, जिसमें कथित व्यक्तियों द्वारा एक ही तौर-तरीके से लोगों को ठगा गया. तकनीकी जांच से पता चला कि संदिग्ध गैंग बिहार, पश्चिम बंगाल और फिरोजाबाद से चलाया जा रहा है.

पुलिस ने सभी जगहों पर छापेमारी के बाद फिरोजाबाद से आरोपी दीपक ठाकुर, पश्चिम बंगाल से जेकी प्रसाद, पप्पू सिंह और विकास कुमार को गिरफ्तार किया. पूछताछ में पता चला कि आरोपी दीपक ठाकुर (वेबसाइट डेवलपर) के नेतृत्व में एक संगठित गिरोह चल रहा था, दीपक बी.टेक का छात्र है और उसने  धार्मिक यात्रियों से ठगी करने के लिए वेबसाइटों को डिजाइन किया.

फरीदाबाद: साइबर पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 262 वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग का भंडाफोड़

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गिरोह के लोग हेलीकॉप्टर टिकट बुकिंग के लिए एक नकली वेबसाइट बनाते हैं जो सरकार द्वारा अधिकृत एजेंटों की वेबसाइटों के समान लगती है और उन्हें उनके द्वारा खोले गए बैंक खातों में बुकिंग अमाउंट जमा करवाते हैं. ठगी के पैसे को तुरंत निकालने के लिए उन्होंने बैंक खातों की चेक बुक और एटीएम कार्ड अपने पास रख लिए थे, आरोपियों ने अब तक 20 लाख से ज्यादा रुपये की ठगी की है.