इस टोटके में भी छिपा है सरफराज की सफलता का राज़, तस्वीर में पहचान सकते हो, तो पहचान लो

Irani Trophy: इस दौरान सरफराज (Sarfaraz Khan) ने हर पहलू पर काम किया. अगर किसी टोटके की जरूरत पड़ी, तो उसे भी आजमाया! अब यह तो आप जानते ही हैं कि क्रिकेटर कितने अंधविश्वासी होते हैं और कैसे-कैसे टोटके करते रहे हैं

इस टोटके में भी छिपा है सरफराज की सफलता का राज़, तस्वीर में पहचान सकते हो, तो पहचान लो

Irani Trophy: सरफराज पिछले कुछ साल से बल्ले से आग उगल रहे हैं घरेलू क्रिकेट में

खास बातें

  • सभी ट्रॉफियों में मिलाकर साल भर में हजार से ज्यादा रन
  • ईरानी ट्रॉफी के पहले दिन शतक बनाकर नाबाद हैं सरफराज
  • अब टीम इंडिया में आने से कौन रोकेगा !
नई दिल्ली:

काफी लंबे समय बाद घरेलू क्रिकट में दीर्घकालिक क्रिकेट के लिहाज से एक ऐसा युवा बल्लेबाज उभरकर आया है, जिसे आने वाले समय में भारत के लिए अच्छे-खासे टेस्ट मैच खेलने चाहिए. और यह कोई और नहीं, बल्कि पिछले कुछ सीजन से बल्ले से आग उगल रहे मुंबई के सरफराज खान (sarfarz Khan) हैं. सरफराज (Sarfaraz Khan makes ton) ने शनिवार से शुरू हुयी पांच दिनी ईरानी ट्रॉफी (Irani Trophy) के पहले दिन ही 126 गेंदों पर नाबाद 125 रन बनाकर राष्ट्रीय चयन समिति को फिर से यह बता दिया कि जब बात दीर्घकालिक क्रिकेट की आती है, तो उनका बल्ला कुछ ऐसे ही दहकता है, जैसे घरेलू क्रिकेट में करीब साल 2019 से दहक रहा है. सरफराज को आईपीएल में भले ही उतनी कामयाबी नहीं मिली, जिस उम्मीदों के साथ कभी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने उन्हें छह-सात साल पहले अपने साथ जोड़ा था. लेकिन वक्त गुजरा, तो सरफराज ने अपना दम दिखाने के लिए चुना घरेलू रणजी ट्रॉफी को. और करीब साल 2019-20 से शुरू हुआ रन बनाने का सिलसिला अब उस मुहाने पर आ गया है, जहां से सेलेक्टरों को उन्हें भारतीय टीम में जगह देने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा. 

SPECIAL STORY: 

सरफराज खान ने जड़ा एक और शतक, तो सूर्यकुमार यादव ने खास अंदाज में की तारीफ


यह रिकॉर्ड तो सुपर से ऊपर, ब्रेडमैन के बाद इतिहास में केवल सरफराज खान, सचिन भी नहीं कर सके

इन पिछले करीब तीन-चार सालों में सरफराज ने खुद पर खासा काम किया. समय कोविड का रहा हो, तब भी सरफराज को अपने गांव में घर की छत पर खास तरह की बैटिंग ड्रिल करते देखा गया. नतीजा यह है कि इस साल सरफराज भारतीय घरेलू सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं. और अगर रणजी में दिलीप और ईरानी ट्रॉफी को भी जोड़ लिया जाए, तो आंकड़ा हजार से ऊपर चला जाता है और यह आंकड़ा बताता है कि सरफराज इनिंग क्रिकेट में बड़ी पारियां खेलने के कितने ज्यादा भूखे हैं. 

इस दौरान सरफराज ने हर पहलू पर काम किया. अगर किसी टोटके की जरूरत पड़ी, तो उसे भी आजमाया! अब यह तो आप जानते ही हैं कि क्रिकेटर कितने अंधविश्वासी होते हैं और कैसे-कैसे टोटके करते रहे हैं. इसका भी एक लंबा इतिहास है. और सरफराज के कि टोटके को आप तस्वीर में पहनी टी-शर्ट पर ढूंढ सकते हैं. कुछ मिला क्या..गौर से देखिए..बार-बार देखिए!. आप में से बहुत ज्यादा संख्या में ऐसे फैंस होंगे जो कहेंगे कि सरफराज का टोटका लिखे नंबर 97 में छिपा है. अगर आप ऐसा सोच रहे हैं, तो आप दो सौ फीसद गलत हैं. फिर से देखिए..!

अगर नहीं पकड़ पाए, तो हम टोटके का राज खोल ही देते हैं. दरअसल यह टोटका छिपा है सरफराज के नाम की स्पेलिंग में. आप साफ-साफ देख सकते हैं कि 97 नंबर के ऊपर लिखे सरफराज ने आर के बाद ए को दो बार लिखवाया है. सामान्य या अंग्रेजी भाषा में सरफराज में आर के बाद एक बार ही ए आता है, लेकिन सरफराज दो दो बार ए का इस्तेमाल किया है. और यही सरफराज का टोटका भी है! हालांकि, असल बात यह है कि खेल कोई भी, लेकिन यह खिलाड़ी का मैदान में बहाया गया पसीना और उसका कौशल ही होता है, जो उसकी नैय्या पार लगाता है, लेकिन टोटकों में कुछ तो है, जोय खिलाड़ियों  की मनोदशा को तुष्ट करती है. और अगर वास्तव में इस तरह का टोटका काम करता भी है, तो फिर यह बना ही रहना चाहिए क्योंकि सभी चाहते हैं कि सरफराज के बल्ले से रन इसी अंदाज में बहते रहें!

यह भी पढ़ें:

बाबर आजम ने कर ली कोहली के एक विराट रिकॉर्ड की बराबरी, इस मामलें में चारों को दी मात

'इस युवा की नजर तेंदुलकर के सुपर से ऊपर के रिकॉर्ड की बराबरी पर, कारनामा करने वाले इतिहास में सचिन इकलौते

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

'इस फायर परफॉरमेंस ने भी की सिराज की टीम इंडिया में वापसी में मदद, कौन जानता है कि..



अन्य खबरें