SA vs IND: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सीमर ने सीरीज शुरू होने से पहले विराट कोहली को दिया चैलेंज

SA vs IND 1st Test: वहीं डोनाल्ड ने कहा कि जो टीम बेहतर बल्लेबाजी करेगी, वही श्रृंखला जीतेगी. उन्होंने भारत के खिलाफ 1992-93 श्रृंखला में अहम भूमिका निभायी थी और साथ ही घरेलू सरजमीं पर 1996-97 में श्रृंखला में मिली जीत में भी.

SA vs IND: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सीमर ने सीरीज शुरू होने से पहले विराट कोहली को दिया चैलेंज

South Africa vs India: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज नखाया एंटिनी

खास बातें

  • दिसंबर 26 से खेला जाएगा पहला टेस्ट
  • सेंचुरियन में मचेगा घमासान
  • क्या विराट देंगे एंटिनी को जवाब?
जोहानिसबर्ग:

SA vs IND 1st Test: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सीमर  मखाया एंटिनी ने टीम विराट को पहला टेस्ट शुरू होने से पहले चैलेंज दे डाला डाला है. एंटिनी ने कहा है कि भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका में अपनी पहली टेस्ट श्रृंखला जीत पाएगी, जबकि महान क्रिकेटर एलेन डोनाल्ड को लगता है कि जसप्रीत बुमराह एंड कंपनी घरेलू टीम की अनुभवहीन बल्लेबाजी की परीक्षा लेगी. पहला टेस्ट सेंचुरियन में 26 दिसंबर से शुरू होगा. भारत को इस बार दक्षिण अफ्रीका में पहली सफलता हासिल करने का दावेदार माना जा रहा है जिसे 2018 में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था. उस टीम में अब संन्यास ले चुके एबी डिविलियर्स, फैफ डु प्लेसिस, हाशिम अमला, वर्नोन फिलैंडर और डेल स्टेन शामिल थे.

यह भी पढ़ें:   नेहरा का सुझाव, शमी और बुमराह के साथ इस तीसरे तेज गेंदबाज को मिलना चाहिए मौका

एंटिनी भारत के खिलाफ 2001 और 2006-07 घरेलू श्रृंखला में खेले थे. उन्होंने क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका की विज्ञप्ति में कहा, ‘भारत का गेंदबाजी आक्रमण इस बार काफी अच्छा है, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी अपनी घरेलू परिस्थितियों को बेहतर जानते हैं. मुझे लगता है कि यह अहम होगा.'उन्होंने कहा, ‘हमें खुद का समर्थन करना होगा क्योंकि हमारे पास घरेलू मैदानों पर खेलने का फायदा है. हमारे खिलाड़ी विकेट को बखूबी जानते हैं और इससे हमें उन पर बढ़त मिलेगी.'


वहीं डोनाल्ड ने कहा कि जो टीम बेहतर बल्लेबाजी करेगी, वही श्रृंखला जीतेगी. उन्होंने भारत के खिलाफ 1992-93 श्रृंखला में अहम भूमिका निभायी थी और साथ ही घरेलू सरजमीं पर 1996-97 में श्रृंखला में मिली जीत में भी. उन्होंने कहा, ‘दोनों टीमों का लाइन-अप बहुत अच्छा है, दोनों की गेंदबाजी बहुत मजबूत है और इसका मतलब है कि दोनों टीमों की बल्लेबाजी की परीक्षा होगी.डोनल्ड ने कहा, ‘पिछले कुछ सत्र में हमारी बल्लेबाजी के कुछ अहम खिलाड़ी कम हो गये हैं. इस तथ्य को छुपाया नहीं जा सकता कि यह एक युवा बल्लेबाजी क्रम है और भारतीय आक्रमण उनकी परीक्षा लेगा.'

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि इसी से श्रृंखला का नतीजा तय होगा. पिछले कुछ सत्र में हमने काफी रन नहीं जुटाये हैं और यह चुनौती होगी. अगर हम बोर्ड पर काफी रन जुटा देते हैं तो इसमें कोई शक नहीं कि हमारे पास ऐसे गेंदबाज मौजूद हैं जो 20 विकेट झटक सकते हैं.' डोनाल्ड ने कहा कि भारत ने विदेशी दौरों पर सफलता हासिल करने के लिये सचमुच काफी कड़ी मेहनत की है.

यह भी पढ़ें:  विवाद के बीच विराट के बचपन के कोच ने दिया बड़ा बयान, कही यह बड़ी बात

उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ वर्षों में (विराट) कोहली की टिप्पणी रही है कि आपको तब तक महान टीम करार नहीं किया जा सकता जब तक आप विदेशों में जीत दर्ज नहीं करते और उसने इस ओर सचमुच काफी काम किया है। आपने उसे ऑस्ट्रेलिया में जीत दर्ज करते हुए देखा और साथ ही विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचते हुए देखा.' उन्होंने कहा, ‘यह बेहतरीन भारतीय टीम है जो यहां आयेगी. मैं इस चुनौती को देखने के लिये उत्सुक हूं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रविचंद्रन अश्विन ने एक इंटरव्यू में रवि शास्त्री पर निशाना साधा