IND VS NZ: कानपुर टेस्ट के लिए द्रविड़ ने चली पहली 'चाल', शुभमन गिल नहीं करेंगे ओपनिंग में बल्लेबाजी

ओपनिंग में बल्लेबाजी के लिए केएल राहुल और मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) का नाम फाइनल माना जा रहा है.

IND VS NZ: कानपुर टेस्ट के लिए द्रविड़ ने चली पहली 'चाल', शुभमन गिल नहीं करेंगे ओपनिंग में बल्लेबाजी

पहला मैच 25 नवंबर से कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला जाएगा

खास बातें

  • शुभमन गिल को खेलना होगा मीडिल ऑर्डर में
  • इंग्लैंड दौरे पर चोटिल हो गए थे शुभमन गिल
  • विराट की जगह खेलना बड़ी जिम्मेदारी

न्यूजीलैंड (New Zealand) के खिलाफ टी20 सीरीज में जीत हासिल करने के बाद अब टीम इंडिया ने टेस्ट मैचों के लिए रणनीति बनानी शुरू कर दी है. पहला मैच 25 नवंबर से कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला जाएगा. सूत्रों से मिली खबर के अनुसार टीम मैनेजमेंट भारतीय ओपनर शुभमन गिल (Shubman Gill)के बैटिंग ऑर्डर को बदलने का मन बना लिया है. बता दें कि रोहित शर्मा इस पूरी सीरीज में टीम के साथ नहीं होंगे जबकि विराट कोहली (Virat Kohli) मुबंई  टेस्ट से टीम के साथ  जुड़ेंगे. 

BANvsPAK: आखिरी ओवर के रोमांच के बाद बांग्लादेश की तीसरे मैच में भी हार, सीरीज 3-0 से पाकिस्तान के नाम , देखें VIDEO

ओपनिंग में बल्लेबाजी के लिए केएल राहुल और मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के नाम फाइनल ही माने जा रहे हैं. खबरें ये आर रही हैं टीम मैनेजमेंट ने सोचा है कि विराट कोहली की गैरमौजूदगी में कोई ऐसा बल्लेबाज मीडिल ओवरों में होना चाहिए जो विपक्षी टीम के गेंदबाजों पर दबाव बना सके. टीम मैनेजमेंट का मानना है कि शुभमन गिल में वो ताकत है जब वे दूसरी नई गेंद से विपक्षी टीम पर अटैक कर सकते हैं. आपको बता दें कि इंग्लैंड दौरे की शुरुआत में ही शुभमन गिल चोट के चलते भारत वापस आ गए थे जबकि मयकं अग्रवाल को वहां एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था. रोहित शर्मा इस  सीरीज में एक भी मैच नहीं खेल रहे हैं इसी लिए ओपनिंग करने की जिम्मेदारीअब उनकी जगह मयंक अग्रवाल के पास होगी. 

कानपुर टेस्ट के लिए सूर्यकुमार यादव को मिल सकती है टीम इंडिया में जगह, 25 नवबंर से पहला टेस्ट शुरू

गिल के करियर की अगर बात करें तो अबतक 8 टेस्ट मैचों में महज 31.84 की औसत से 414 रन ही बनाए हैं. उनके बल्ले से 3 अर्धशतक निकले हैं. क्रिकेट कई बड़े दिग्गज बता चुके हैं कि शुभमन गिल भविष्य के खिलाड़ी हैं लेकिन अभी भी उनकी बल्लेबाजी में कई खामिया हैं कई बार ओपनिंग में स्विंग गेंदबाजी के सामने उनके पैर ठीक से नहीं चलते. 

अब ये भी माना जा रहा है कि टीम इंडिया में और भी कई बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं. क्योंकि अब टीम में नए कोच आ गए हैं तो  जाहिर सी बात वे अपने तरीके से टीम को चलाना चाहेंगे. क्रिकेट में ये ही कहा जाता है कि मैदान पर जाने के बाद कप्तान और मैदान से पहले कोच की भूमिका बेहद अहम होती है. 

सचिन तेंदुलकर ने एमपी के गांवों का किया दौरा


. ​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com