Ind vs Eng: इसके बावजूद अश्विन हर दिन करते हैं नेट पर 40-45 ओवर गेंदबाजी

India vs England 1st Test: वॉशिंगटन सुंदर ने लगातार दूसरे टेस्ट में अर्धशतक बनाया और तमिलनाडु तथा राष्ट्रीय टीम में उनके साथी खिलाड़ी अश्विन ने उन्हें खास बल्लेबाज बताया. उन्होंने कहा,‘वह शानदार बल्लेबाज है. कई लोग टी20 क्रिकेट के आधार पर आकलन करते हैं जिसमें वह सातवें नंबर पर उतरता है.

Ind vs Eng: इसके बावजूद अश्विन हर दिन करते हैं नेट पर 40-45 ओवर गेंदबाजी

England vs India: रविचंद्रन अश्विन ने मैच में नौ विकेट चटकाए

चेन्नई:

गेंदबाजों की कब्रगाह पिच पर करीब 73 ओवर डालना आसान नहींहै लेकिन गेंदबाजी से रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को इतनी खुशी मिलती है कि वह विषम परिस्थितियों में शरीर पर पड़ने वाले बोझ को भी भूल जाते हैं.  अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में नौ विकेट ले लिये हैं जिसमें से छह विकेट दूसरी पारी में लिये. कमर में दर्द के कारण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट से बाहर रहे अश्विन से उसके बारे में पूछने पर उन्होंने कहा,‘लोग काफी रोचक विश्लेषण करते हैं कि क्या होगा और क्या नहीं लेकिन एक क्रिकेटर के जेहन में यह बात सबसे आखिरी होती है.'उन्होंने कहा,‘रोज 40 से 45 ओवर डालना और फिर नेट्स पर जाना मेरी क्रिकेट दिनचर्या का हिस्सा है. गेंदबाजी में मुझे इतनी खुशी मिलती है कि कई बार शरीर साथ नहीं देता तो भी मैं गेंदबाजी करता रहता हूं. मुझे इससे इतना प्यार है.'

Uttarakhand Glacier Break: ऋषभ पंत मदद को आगे आए, पूरी मैच फीस दान में देने का किया ऐलान

इशांत शर्मा की तरह अश्विन ने भी स्वीकार किया कि पिच पूरी तरह से सपाट है और टॉस की भूमिका अहम रही.  उन्होंने कहा ,‘जब मैने विकेट देखी तो मुझे लगा कि बल्लेबाजी के लिये अच्छी होगी लेकिन दूसरे दिन से बेहतर होती जाएगी. यह वाकई सपाट पिच है और टॉस काफी अहम रहा.'अश्विन ने कहा,‘फिर भी मेरा मानना है कि हमने आज अच्छी वापसी की. पांचवें दिन अच्छा खेलने पर हम जीत भी सकते हैं.'

हसन अली ने फेंकी गजब की गेंद, बोल्ड होने के बाद गेंदबाज को देखने लगा बल्लेबाज..देखें Video


वॉशिंगटन सुंदर ने लगातार दूसरे टेस्ट में अर्धशतक बनाया और तमिलनाडु तथा राष्ट्रीय टीम में उनके साथी खिलाड़ी अश्विन ने उन्हें खास बल्लेबाज बताया. उन्होंने कहा,‘वह शानदार बल्लेबाज है. कई लोग टी20 क्रिकेट के आधार पर आकलन करते हैं जिसमें वह सातवें नंबर पर उतरता है.  हर कोई उसकी खास प्रतिभा को नहीं पहचान पाता कि वह कितना विशेष बल्लेबाज है.'अश्विन ने यह भी कहा कि फालोआन नहीं देने के इंग्लैंड के फैसले से वह हैरान नहीं थे. उन्होंने कहा ,‘उनके पास दो विकल्प थे, लेकिन उन्होंने अपने गेंदबाजों को आराम देने के लिये फालोऑन नहीं दिया. बाहर से यह बात उतनी अच्छी तरह से नहीं समझी जा सकती क्योंकि कई बार तरोताजा गेंदबाज थके हुए गेंदबाजों की तुलना में कमाल कर सकते हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.