Ind vs Eng 5th Test: अब आखिरी टेस्ट में नंबर-4 के लिए इन 2 बल्लेबाजों के बीच टक्कर, किसे मिलेगा मौका

Rajat Patidar: रजत पाटीदार की कहानी अभी तक बहुत ही ज्यादा निराशाजनक रही है. और उनका इलेवन से बाहर होना तय है

Ind vs Eng 5th Test: अब आखिरी टेस्ट में नंबर-4 के लिए इन 2 बल्लेबाजों के बीच टक्कर, किसे मिलेगा मौका

Rajat Patidar: रजत पाटीदार नंबर चार पर मिले मौके को नहीं भुना सके

नई दिल्ली:

टीम इंडिया मेहमान अंग्रेजों के खिलाफ 3-1 की अजेय बढ़त हासिल कर चुकी है. जाहिर है कि भारतीय खेमे में चिंता का भाव मिट चुका है और जब सात मार्च से शुरू हो रहे आखिरी टेस्ट मैच (ind vs eng 5th test) में धर्मशाला में भारतीय टीम मैदान पर उतरेगी, तो मनोवैज्ञानिक लाभ उनके पास होगा, जो खिलाड़ियों की शारीरिक भाषा और उनके बेखौफ अंदाज में साफ दिखाई पड़ेगा. बहरहाल, इससे अलग यह भी साफ है कि आखिरी टेस्ट की भारतीय इलेवन में बदलाव होने जा रहा है. और मुकाबला है केएल राहुल (KL Rahul) और देवदत्त पडिक्कल के बीच.

यह भी पढ़ें: 

Ind vs Eng 5th Test: अब जायसवाल की नजर गावस्कर के ग्रेट रिकॉर्ड पर, इसका बचना बहुत मुश्किल


जायसवाल के लिए सचिन का यह रिकॉर्ड है बड़ा चैलेंज, टक्कर पाकिस्तानी मोहम्मद यूसुफ से भी

केएल राहुल को लेकर स्थिति साफ नहीं

केए राहुल की फिटनेस को लेकर अभी तस्वीर पूरी तरह से साफ नहीं है. दूसरे टेस्ट के बाद से वह 90 प्रतिशत ही फिट हैं. प्रबंधन की तरफ से कोई अपडेट नहीं है. और अगर केएल राहुल आखिरी टेस्ट से भी बाहर रहते हैं, तो वह रजत पाटीदार की जगह देवदत्त पडिक्कल को इलेवन में जगह मिल सकती है.

...तो केएल को स्वत: जगह मिल जाएगी

अगर केएल राहुल फिट होते हैं, तो स्वाभाविक रूप से वह रजत पाटीदार की जगह ले लेंगे. अभी तक पाटीदार के लिए सीरीज दुस्वप्न की तरह रही है. वैसे यह भी सवाल कि धर्मशाला में अप्रासंगिक हो चुके आखिरी टेस्ट में क्या प्रबंधन केएल की फिटनेस को लेकर कोई जोखिम मोल लेगा. निश्चित तौर पर अब जब आईपीएल अगले महीने शुरू होने जा रही है, तो खुद राहुल भी किसी तरब का जोखिम नहीं लेना चाहेंगे.

पाटीदार का ऐसा बुरा हाल

पाटीदार बहुत ही ज्यादा उम्मीदों के साथ टीम से जुड़े थे, लेकिन उन्हें समझ में आ गया होगा कि रणजी ट्रॉफी, भारत ए से सीनियर टीम की चुनौती कितनी ज्यादा अलग है. इंग्लैंड लॉन्स के खिलाफ पाटीदार ने फॉम दिखाई थी, लेकिन भारत के लिए इंग्लैंड के खिलाफ छह पारियों में उनका स्कोर 32, 9, 5, 0, 17, 0 रहा है. पहली पारी के बाद वह कभी भी विश्वस्त नहीं दिखे. जाहिर है कि उन पर गाज गिरनी तय है. 

प्रचंड फॉर्म में हैं देवदत्त

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

घरेलू सीजन में देवदत्त के बल्ले ने जमकर रन उगले हैं. उन्होंने रणजी ट्रॉफी में 92.67 के औसत से 556 रन बनाए, लेकिन जब अश्विन के बैक-अप की जगह उनका टीम में बुलावा आया, तो उनका अभियान थम गया, लेकिन उनका औसत सबकुछ बयां करने के लिए काफी है. हालांकि, थोड़ी हैरानी की बात है कि ऐसी फॉर्म के बावजूद उन्हें इंग्लैंड लॉयन्स के खिलाफ नहीं खिलाया गया. ऐसे में वह निराश नहीं हुए और रणजी में परफॉर्म करना जारी रखा.