Shapoorji Pallonji को बेंगलुरु में लक्जरी आवासीय परियोजना से 500 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद

शापूरजी पालोनजी रियल एस्टेट के एमडी और सीईओ वेंकटेश गोपालकृष्ण ने कहा, ‘‘पार्कवेस्ट 2.0 का आखिरी टावर सिकोया हमारे शिल्प कौशल के प्रति अटूट समर्पण का प्रमाण है.’’

Shapoorji Pallonji को बेंगलुरु में लक्जरी आवासीय परियोजना से 500 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद

Shapoorji Pallonji Real Estate (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

शापूरजी पालोनजी रियल एस्टेट ने गुरूवार को बेंगलुरु में 180 से अधिक लक्जरी घरों की आवासीय परियोजना की पेशकश की. इससे कंपनी को 500 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद है. कंपनी ने बयान में कहा कि उसने बेंगलुरु के बिन्नीपेट में अपनी परियोजना पार्कवेस्ट 2.0 में आखिरी टावर ‘सिकोया' पेश किया है. 

कंपनी इस आखिरी टावर में 180 से अधिक लक्जरी अपार्टमेंट बनाएगी. इसमें बिक्री योग्य क्षेत्र 4.3 लाख वर्ग फुट होगा. इससे कंपनी को लगभग 500 करोड़ रुपये का राजस्व मिलने की उम्मीद है. 

शापूरजी पालोनजी रियल एस्टेट के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) वेंकटेश गोपालकृष्ण ने कहा, ‘‘पार्कवेस्ट 2.0 का आखिरी टावर सिकोया हमारे शिल्प कौशल के प्रति अटूट समर्पण का प्रमाण है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बेंगलुरु भारत के प्रमुख रियल एस्टेट बाजारों में से है. आवास ब्रोकरेज कंपनी प्रॉपटाइगर के आंकड़ों के अनुसार, आवासीय संपत्तियों की बिक्री पिछले साल 44 प्रतिशत बढ़कर 44,002 इकाई हो गई. यह आंकड़ा 2022 में 30,467 इकाई का था. पिछले साल नए घरों की आपूर्ति भी 14 प्रतिशत बढ़कर 42,215 इकाई से 47,965 इकाई हो गई.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)