'किसानों की आवाज सुनाई नहीं दे रही ' : यूरिया की कमी पर RJD के शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना

शिवानंद तिवारी के अनुसार, यूरिया का संकट अचानक नहीं पैदा हुआ है. अख़बार वाले लगातार यूरिया की कमी और इसको लेकर किसानों में बेचैनी की ख़बर से अवगत करा रहे हैं.

'किसानों की आवाज सुनाई नहीं दे रही ' : यूरिया की कमी पर RJD के शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार पर साधा निशाना

शिवानंद तिवारी ने कहा, मुख्यमंत्रीजी को किसानों की आवाज़ सुनाई नहीं दे रही है

पटना :

Bihar: बिहार में रबी फसलों के लिए बुवाई शुरू हो गई है लेकिन लेकिन किसानों को इस बार अभूतपूर्व यूरिया संकट का सामना करना पड़ रहा हैं. दूसरी ओर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) इन दिनों पूरे राज्य में शराबबंदी से संबंधित अपने समाजसुधार अभियान को लेकर दौरा कर रहे हैं.  राष्‍ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने इसे लेकर सीएम को सलाह दी है. सीएम नीतीश को सलाह देते हुए RJD के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि शराब से फ़ुरसत निकालिए मुख्यमंत्री जी...क्योंकि बिहार में यूरिया के लिए किसानों में हाहाकार मचा हुआ है. खाद के लिए छटपटाते किसानों पर हवाई फ़ायरिंग हो रही है. उन पर टियर गैस के गोले दागे जा रहे हैं. बेमौसम बारिश ने वैसे ही किसानों की जान सांसत में डाल दी है.

शिवानंद तिवारी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि शराबबंदी के नशे में मदहोश मुख्यमंत्रीजी को किसानों की आवाज़ सुनाई नहीं दे रही है.बिहार की लगभग 80% आबादी कृषि पर निर्भर है. न्यूनतम मूल्य पर धान की ख़रीद नहीं हो रही है. किसान औनेपौने दाम पर धान बेच रहे हैं. जो धान कटनी के बाद खेतों में रह गया है, बेमौसम की बारिश में भीग गया है. बारिश की वजह से सब्ज़ी पैदा करने वाले किसान अलग सर पर हाथ रखकर बैठे हुए हैं लेकिन सरकार की ओर से अबतक किसानों के लिए सांत्वना का कोई बयान भी नहीं आया है.

तिवारी के अनुसार, यूरिया का संकट अचानक नहीं पैदा हुआ है. अख़बार वाले लगातार यूरिया की कमी और इसको लेकर किसानों में बेचैनी की ख़बर से अवगत करा रहे हैं. कृषि मंत्री जी ने आश्वासन भी दिया था कि यूरिया की कमी तत्काल दूर होगी लेकिन नतीजा वही ढाक के तीन पात. चर्चा है कि दिल्ली सरकार, बिहार के हिस्से का यूरिया चुनावी फ़ायदे के लिए उत्तर प्रदेश भिजवा रही है.  तिवारी ने कहा, 'मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है कि अभी शराब को मुल्तवी रखें और किसानों को संकट से निकालने में अपना समय और ऊर्जा लगाएं.'

"अरुणाचल भारत का अभिन्‍न हिस्‍सा": प्रदेश के 15 जगहों के नाम बदलने पर चीन को भारत का जवाब

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com