अब पूरे साल सोनमर्ग की खूबसूरती का दीदार करेंगे टूरिस्ट, इस टनल के खुलने से खत्म होंगी सभी मुश्किलें

3 से 4 महीने तक बर्फबारी के मौसम में बर्फ की इतनी मोटी परतें होती थी, कि आप सोनमर्ग नहीं आ सकते थे. लेकिन, अब आपके लिए ये आसान हो गया है. क्योंकि ये टनल बनकर लगभग तैयार है.

जम्मू-कश्मीर के सोनमर्ग (Sonmarg) की खूबसूरती का दीदार पर्टयक अब 12 महीने कर सकेंगे. देश-विदेश के पर्यटक अब आसानी से श्रीनगर (Srinagar) से सोनमर्ग (Sonmarg) पहुंच सकेंगे. बर्फबारी की वजह से साल के छह महीने सोनमर्ग का इलाका देश के बाकी हिस्सों से कटा रहता है. मगर केंद्र सरकार की परियोजना की वजह से अब से मुश्किलें जल्द ही खत्म होने वाली हैं. सर्दी के मौसम में इस साल पहली बार श्रीनगर से सोनमर्ग तक सुरंग के जरिए आना मुमकीन हो पाएगा, क्योंकि टनल (Z-Morh tunnel) बनकर तैयार है.

सीधे तौर पर ये कहा जाता था कि 3 से 4 महीने तक बर्फबारी के मौसम में बर्फ की इतनी मोटी परतें होती थी, कि आप सोनमर्ग नहीं आ सकते थे. लेकिन, अब आपके लिए ये आसान हो गया है. क्योंकि ये टनल बनकर लगभग तैयार है. हालांकि, इसकी डेडलाइन 2023 की है. लेकिन, इस साल सर्दी के मौसम में इसे खोला जाएगा और कोशिश ये है अगले साल 2022 तक ये टनल पूरी तरह से खोल दिया जाए.


इस टनल की लंबाई साढ़े छह किलोमीटर है. इस इलाके में भारी बर्फबारी की वजह से लोगों को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ता था. स्थानीय लोगों को 3 से 4 महीने के लिए दूसरी जगहों पर जाना पड़ता था. क्योंकि नवंबर से लेकर मार्च तक बर्फबारी की वजह से लोग यहां नहीं रह सकते थे. क्योंकि लोगों का कारोबार पूरी तरह से ठप पड़ जाता था और आवाजाही भी पूरी तरह से बंद हो जाती थी. लोगों की इन्हीं मुश्किलों को खत्म करने के लिए ये टनल (Z-Morh tunnel) बनाया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस टनल के दूसरी तरफ एक स्केप टनल भी है, क्योंकि अगर कोई आपदा की स्थिति आती है, तो इसके जरिए निकासी को आसान बनाया जा सकेगा. ये लगभग बनकर तैयार हो चुकी है और 2022 में ये पूरी तरह से लोगों के लिए खोल दिया जाएगा. जैसे गुलमर्ग में लोग हमेशा आ जा सकते थे अब उसी तरह से सोनमर्म में भी लोगों के लिए हमेशा के लिए आवाजाही आसान हो जाएगी. खासतौर पर बर्फबारी के दौरान जो रास्ते हमेशा बंद रहते थे, अब इस टनल के जरिए वो रास्ते भी खुले रह सकेंगे.