पड़ोसी के टॉयलेट की तेज आवाज से तंग था कपल, अब मिलेगा 8 लाख का हर्जाना

इस केस के 20 साल गुजर जाने के बाद कोर्ट ने उन्हें पड़ोसी से 8 लाख रुपये से भी ज्यादा रकम मुआवज़े के तौर पर दिलाई है.

पड़ोसी के टॉयलेट की तेज आवाज से तंग था कपल, अब मिलेगा 8 लाख का हर्जाना

इस खबर को सुनने के बाद कई लोग हैरत में पड़ गए.

नई दिल्ली:

कई लोगों के लिए टॉयलेट बड़े आराम की जगह होती है. लेकिन अगर कोई आपसे कहे कि टॉयलेट भी किसी के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है तो यकीनन करना मुश्किल है. मगर इन दिनों एक ऐसा कहानी दुनियाभर में सुर्खियां बटोर रही है, जिसे सुन आप भी दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर हो जाएंगे. दरअसल इटली (Italy News) में एक कपल (Couple Filed Case over Flush Noise) ने फ्लश के ज़रिये ही 80 हज़ार रुपये का मुआवज़ा हासिल कर लिया है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक गल्फ ऑफ पोएट्स (Gulf Of Poets) में रहने वाले पति-पत्नी ने पड़ोसी के घर से आ रही फ्लश की आवाज़ को लेकर कोर्ट में मुकदमा किया था. इस केस के 20 साल गुजर जाने के बाद कोर्ट ने उन्हें पड़ोसी से 8 लाख रुपये से भी ज्यादा रकम मुआवज़े के तौर पर दिलाई है. कोर्ट में केस करने वाले कपल का आरोप था कि पड़ोसी के फ्लश की आवाज़ से वे पूरी रात सो नहीं पाते थे. इसलिए उन्होंने ये मामला कोर्ट में उठाया.

इटैलियन कोस्टल शहर में रहने वाले इस कपल ने साल सालों पहले एक याचिका दायर की गई थी, जिसमें कपल का कहना था कि उनके पड़ोसी के घर से फ्लश की तेज़ आवाज़ आती है. ये आवाज़ उनके बेडरुम (Bedroom) से लगी हुई दीवार से ही आती थी, क्योंकि इस दीवार से पड़ोसियों का बाथरूम सटा था. इसलिए ये आवाज़ उनकी नींद हराम कर देती है. कोर्ट ने उनके इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दोनों फ्लैट्स का सही से निरीक्षण कराया.

ये भी पढ़ें: खतरनाक शेरों के झुंड से अकेला भिड़ा जिराफ, वीडियो में देखें आगे क्या हुआ

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


घर का निरीक्षण करने वाले अधिकारियों ने पड़ोसियों ने अपना फ्लश सिस्ट बदलने के लिए कहा. मगर पड़ोसी ने इसके बाद को नहीं माना, जिस वजह से कपल को सुप्रीम कोर्ट में जाना पड़ा. इस बार कोर्ट ने कहा कि फ्लश की आवाज़ से कपल की नींद खराब होती है, इसलिए अब पड़ोसियों को उन्हें 8 लाख 11 हज़ार से भी ज्यादा रुपये मुआवज़े के तौर पर देने होंगे. आपको बता दें कि ये मामला साल 2003 का है, लेकिन अब ये मामला हर जगह छाया हुआ है.