इजराइल में लाल ख़ूनी रंग से लिखा मिला प्राचीन मकबरा, जिसमें लिखा है- 'इसे मत खोलना'

इजराइल (Israel) में लाल ख़ूनी रंग से लिखा एक रहस्यमयी प्राचीन मकबरा (Tomb) मिला है. इस मकबरे के मिलने के बाद सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीरें वायरल हो गई हैं. इस मकबरे में लिखा है- इसे मत खोलना. ये एक तरह से चेतावनी है.

इजराइल में लाल ख़ूनी रंग से लिखा मिला प्राचीन मकबरा, जिसमें लिखा है- 'इसे मत खोलना'

इजराइल (Israel) में लाल ख़ूनी रंग से लिखा एक रहस्यमयी प्राचीन मकबरा (Tomb) मिला है. इस मकबरे के मिलने के बाद सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीरें वायरल हो गई हैं. इस मकबरे में लिखा है- इसे मत खोलना. ये एक तरह से चेतावनी है. आख़िर इस मकबरे को नहीं खोलने के लिए क्यों कहा जा रहा है? मामला इजराइल (Israel)  में स्थित UNESCO की विश्व धरोहर स्थल का है. विशेषज्ञों के अनुसार, यह 65 वर्षों में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल (UNESCO) पर खोजा गया पहला मकबरा है. इस मकबरे के बारे में और जानकारी जुटाने की कोशिश की जा रही है.

तस्वीर देखें

 तस्वीर के साथ कई जानकारियां भी साझा की गई हैं. पोस्ट में लिखा है- "चीजें जो आपको नहीं खोलनी चाहिए: - पैंडोरा बॉक्स – घर के अंदर एक छतरी - प्राचीन कब्रें. यह 1,800 साल पुराना कब्र मार्कर जैकब द कन्वर्ट नाम के एक यहूदी व्यक्ति का, हाल ही में गलील में खोजा गया था. मार्कर में एक शिलालेख शामिल था जो लोगों को कब्र खोलने के खिलाफ चेतावनी देता था."

टाइम्स ऑफ इज़राइल के अनुसार, यह एक शापित मकबरा है. "जैकब (इकोबोस) ने कसम खाई है कि जो कोई भी इस कब्र को खोलेगा वह शापित होगा.” जानकार बता रहे हैं कि ये मकबरा 18 सौ साल पुराना है.इस मकबरे की तस्वीर को इज़राइल के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से शेयर किया गया है.

हाइफ़ा विश्वविद्यालय (University of Haifa) और इज़राइल एंटीक्विटीज़ अथॉरिटी (Israel Antiquities Authority) की एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में इस जानकारी को प्रकाशित किया गया था. जानकारी के मुताबिक, आउटलेट ने IAA के प्रमुख एली एस्कोसिडो से भी बात की, जिन्होंने कहा कि शिलालेख रोमन (Roman) काल के अंतिम दौरा या शुरुआती बाइजेंटाइन काल (Byzantine Period) का है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com