विज्ञापन
Story ProgressBack

अमेरिका में गर्भपात की दवा 'मिफेप्रिस्टोन' पर नहीं लगेगी रोक, जानिए पूरा मामला

मिफेप्रिस्टोन दवा गर्भपात में उपयोग की जाने वाली दो दवाओं में से एक है, जो अब अमेरिका में गर्भधारण को समाप्त करने का सबसे आम तरीका है.

अमेरिका में गर्भपात की दवा 'मिफेप्रिस्टोन' पर नहीं लगेगी रोक, जानिए पूरा मामला

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने गर्भपात विरोधी समूहों की एक याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें आम तौर पर उपलब्ध गर्भपात की गोली मिफेप्रिस्टोन को खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) की मंजूरी को रद्द करने की मांग की गई थी. सर्वोच्च न्यायालय ने सर्वसम्मति से कहा कि गर्भपात विरोधी समूहों और मिफेप्रिस्टोन दवा को चुनौती देने वाले डॉक्टरों के पास मामला लाने के लिए कानूनी आधार नहीं है.

सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला सुनाया कि मिफेप्रिस्टोन को चुनौती देने वाले मुकदमे के वादी के पास मामले को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक कानूनी आधार का अभाव था.  कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता दिखाए कि गर्भनिरोधक दवा से कैसे नुकसान पहुंचा है.

गर्भपात अमेरिका में एक प्रमुख राजनीतिक मुद्दा
बता दें कि गर्भपात अमेरिका में एक प्रमुख राजनीतिक मुद्दा है. दशकों से, गर्भपात पर प्रतिबंध लगाना रूढ़िवादी धार्मिक समूहों का शीर्ष लक्ष्य रहा है. उदारवादी, जो गर्भपात पर सरकारी प्रतिबंधों का विरोध करते हैं, तर्क देते हैं कि यह प्रक्रिया एक महिला की स्वास्थ्य देखभाल, व्यक्तिगत पसंद और शारीरिक स्वायत्तता का हिस्सा है.

टेक्सास में ट्रम्प द्वारा नियुक्त एक रूढ़िवादी जिला न्यायालय के न्यायाधीश ने पिछले वर्ष एक आदेश जारी किया था जिसके तहत मिफेप्रिस्टोन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था.

14 राज्यों में मिफेप्रिस्टोन पर बैंन
अमेरिका के 14 राज्यों ने सीमित अपवादों के साथ गर्भपात पर प्रतिबंध लगा दिया है, वहां चिकित्सा प्रदाता राज्य के कानून के तहत मिफेप्रिस्टोन को लिख या वितरित नहीं कर सकते हैं. उन राज्यों में मरीज़ अन्य राज्यों के प्रदाताओं से ऑनलाइन गोलियाँ मंगवाने का कानूनी जोखिम उठाना जारी रख सकते हैं या वे कानूनी रूप से गोलियां प्राप्त करने के लिए राज्य से बाहर यात्रा कर सकते हैं. 

मिफेप्रिस्टोन दवा गर्भपात में उपयोग की जाने वाली दो दवाओं में से एक है, जो अब अमेरिका में गर्भधारण को समाप्त करने का सबसे आम तरीका है. एलायंस फॉर हिप्पोक्रेटिक मेडिसिन के नाम से जाने जाने वाले वादी ने तर्क दिया था कि अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) से दवा के लिए मंजूरी वापस ले ली जानी चाहिए. लेकिन मार्च में मामले पर बहस के दौरान, अदालत के नौ न्यायाधीशों में से कई ने संदेह जताया कि किसी भी वादी को मिफेप्रिस्टोन की उपलब्धता से नुकसान हुआ है - जो मुकदमा करने के लिए कानूनी स्थिति के लिए आवश्यक है.

कैसे गर्भपात को खत्म करता है मिफेप्रिस्टोन? 
गर्भपात कराने के लिए मरीज पहले मिफेप्रिस्टोन लेती है और फिर गर्भाशय को खाली करने के लिए मिसोप्रोस्टोल लेती है. मिफेप्रिस्टोन ब्लॉक + प्रोजेस्टेरोन (हार्मोन जो गर्भावस्था को बनाए रखने में मदद करता है), मिसोप्रोस्टोल गर्भाशय के संकुचन को ट्रिगर करता है, जिससे शरीर गर्भपात के रूप में भ्रूण को बाहर निकाल देता है.

मिफेप्रिस्टोन का कितना हुआ उपयोग?
एक रिपोर्ट के अनुसार  2000 में एफडीए द्वारा गर्भावस्था के 10 सप्ताह तक उपयोग के लिए इस आहार को मंजूरी दी गई थी. तब से, छह मिलियन से अधिक लोगों ने गर्भपात के लिए मिफेप्रिस्टोन का उपयोग किया है. वर्तमान में, अमेरिका में लगभग एक तिहाई गर्भपात में इस गोली का उपयोग किया जाता है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अमेरिकी राष्ट्रपति पद की रेस से बाहर हुए जो बाइडेन, कैसा रहा उनका कार्यकाल
अमेरिका में गर्भपात की दवा 'मिफेप्रिस्टोन' पर नहीं लगेगी रोक, जानिए पूरा मामला
यूक्रेन के शहर पर रूसी हमले में 7 की मौत, यूक्रेनी राष्ट्रपति ने सहयोगियों से मांगे और हथियार
Next Article
यूक्रेन के शहर पर रूसी हमले में 7 की मौत, यूक्रेनी राष्ट्रपति ने सहयोगियों से मांगे और हथियार
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;