Visa इंटरव्यू के लिए 500 दिन के लंबे इंतजार पर अमेरिकी दूतावास ने दी सफाई...बताई ये वजह

अमेरिकी विदेश विभाग की वेबासाइट के अनुसार भारत में अमेरिकी दूतावास में विजिटर वीजा अपान्टमेंट (Visitor Visa Appointment) का औसतन समय 522 दिन का है और स्टूडेंट वीजा (Student Visa) का औसतन समय 471 दिन है.

Visa इंटरव्यू के लिए 500 दिन के लंबे इंतजार पर अमेरिकी दूतावास ने दी सफाई...बताई ये वजह

विजिट वीजा पर अमेरिका जाने के लिए 500 दिन से अधिक के इंतजार पर दूतावास ने दिया जवाब ( File Photo)

जो लोग अमेरिका (US) जाने की तैयारी कर रहे हैं उन्हें यह जानकर झटका लग सकता है कि उन्हें विजिटर वीजा (Visitor Visa) के लिए 2024 तक का इंतजार करना पड़ सकता है.  NDTV ने जब अमेरिकी विदेश मंत्रालय की वेबासाइट चेक की तो पाया कि औसतन इंतजार का समय करीब डेढ साल है. इसका मतलब यह है कि जो लोग अब अप्लाई करने की योजना बना रहे हैं उन्हें अप्रेल-मार्च 2024 का अपाइंटमेंट मिलेगा.  यह वेबासाइट दिखाती है कि अमेरिकी दूतावास में विजिटर वीजा अपान्टमेंट का औसतन समय 522 दिन का है और स्टूडेंट वीजा का औसतन समय 471 दिन है.

अगर यह लोकेशन मुंबई में चेंज कर दी जाए तो विजिटर वीजा का औसत इंतजार का समय 517 दिन हो जाता है और स्टूडेंट वीजा के लिए इंतजार का समय 10 दिन का हो जाता है.  बाकी सभी नॉन-इमिग्रेंट वीजा का समय दिल्ली में 198 दिन है और मुंबई में 72 दिन है.

अमेरिका के विदेश विभाग की वेबसाइट के मुताबिक चेन्नई के मामले में विजिटर वीजा 557 दिन के इंतजार पर है और 185 दिन का इंतजार बाकी अन्य नॉन इमिग्रेंट वीजा के लिए है. जो लोग हैदराबाद से एप्लाई कर रहे हैं उन्हें 518 दिन का इंतजार करना पड़ेगा. 

वेबसाइट पर वीजा पेज कहता है, "अमेरिकी दूतावास या वाणिज्य दूतावास में इंटरव्यू के अपॉन्टमेंट के लिए इंतजार का अनुमानित समय हर हफ्ते बदल सकता है और यह असल काम के भार और स्टाफ पर निर्भर है. यह केवल अनुमान हैं और यह अपॉन्टमेंट की उपलब्धता की गारंटी नहीं देते." 

इन देरी की रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिकी दूतावास ने कहा कि विदेश विभाग अमेरिका के लिए वैध यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. यह प्रवासी और गैर प्रवासी यात्रियों दोनों के लिए है. अमेरिकी दूतावास के एक प्रवक्ता ने एक वक्तव्य जारी कर कहा, " अमेरिकी सरकार इंतजार का समय घटाने के लिए और पिछले दस्तावेज निपटाने के लिए कदम उठा रही है. हम महामारी के कारण बने काउंसलर स्टाफिंग गैप को कम करने की कोशिश कर रहे हैं और नए स्टाफ को लाकर प्रशिक्षण दे रहे हैं. विदेश विभाग ने पिछले वित्त वर्ष की तुलना में इस साल अमेरिकी अधिकारियों की काउंसलर  भर्ती दुगनी कर दी है और नए प्रशिक्षित कर्मचारी भारत समेत विदेशों से संबंधित कामकाज को देखना शुरू कर रहे हैं."   

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आगे इसमें कहा गया है कि वीजा की प्रक्रिया कोविड19 महामारी में लगभग बंद होने के बाद दोबारा शुरू हो रही है. इस रिकवरी के अनुसार, अमेरिकी सराकर अपने राष्ट्रीय हित और दोबारा आने वाली लोगों की एप्लीकेशन को प्राथमिकता दे रही है. इससे पहली बार एप्लाई करने वाले विजिटर वीजा अनुभव में लंबा समय लग सकता है."