"OpenAI में हमारी कोई हिस्सेदारी नहीं": दुनियाभर में साझेदारी की जांच के बीच माइक्रोसॉफ्ट की सफाई

माइक्रोसॉफ्ट के एक प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा, "हालांकि हमारे समझौते का विवरण गोपनीय रहता है, लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि माइक्रोसॉफ्ट के पास ओपनएआई (Microsoft No Stake In OpenAI) का कोई भी हिस्सेदारी नहीं है."

माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि ओपनएआई में उसकी कोई हिस्सेदारी

नई दिल्ली:

OpenAI कंपनी के को- फाउंडर सैम ऑल्टमैन को कंपनी से निकाले जाने के बाद माइक्रोसॉफ्ट लगातार चर्चा में है. वहीं अब माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से कहा गया है कि ओपनएआई में उसकी कोई हिस्सेदारी नहीं है. जब कि दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने 13 बिलियन डॉलर का निवेश किया है. ब्लूमबर्ग के मुताबिक OpenAI में Microsoft Corp के 13 बिलियन डॉलर के निवेश की जांच के बीच सॉफ्टवेयर दिग्गज कंपनी के पास एक सरल तर्क है. कंपनी को उम्मीद है कि यह एंटीट्रस्ट अधिकारियों के साथ साफ हो जाएगा कि माइक्रोसॉफ्ट बज़ी स्टार्टअप में पारंपरिक हिस्सेदारी का मालिक नहीं है, इसलिए इसे कंट्रोल करने के लिए नहीं कहा जा सकता. 

ये भी पढे़ं-OpenAI में सैम ऑल्टमैन की वापसी पर सत्य नडेला ने क्या कहा

माइक्रोसॉफ्ट और OpenAI के बीच सौदा

 जनवरी में जब Microsoft ने OpenAI में अतिरिक्त 10 बिलियन के निवेश पर बातचीत की, तो उसने एक असामान्य व्यवस्था का विकल्प चुना, जैसा कि उस समय मामले से परिचित लोगों ने कहा था. मामले को जानने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि जब तक कि निवेश को पहले से तय समय तक चुकाया नहीं जाता, आर्टिफिशिल इंटेलिजेंस लेब का एक हिस्सा खरीदने के बजाय कंपनी ने ओपनएआई के वित्तीय रिटर्न का करीब आधा हिस्सा प्राप्त करने के लिए एक सौदा किया, अनऑर्थोडॉक्स स्ट्रक्चर इसलिए गढ़ा गया, क्यों कि ओपनएआई एक गैर-लाभकारी संगठन के भीतर मौजूद एक सीमित लाभ वाली कंपनी है.

रेग्युलेटर कोई अंतर देखते हैं, यह साफ नहीं है. शुक्रवार को UK कॉम्पटिशन और मार्केट अथॉरिटी ने कहा कि वह यह निर्धारित करने के लिए हितधारकों से जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं कि क्या दोनों कंपनियों के बीच सहयोग से UK में कॉम्पटिशन को खतरा है.  प्रतिस्पर्धा को खतरा है, जो Google की AI सिसर्च लैब के डीपमाइंड की जगह है. मामले से परिचित एक व्यक्ति के मुताबिक, US फेडरल ट्रेड कमीशन ओपनएआई में माइक्रोसॉफ्ट के निवेश की प्रकृति की भी जांच कर रहा है, याथ ही इस बात की भी जांच हो रही है कि क्या यह अविश्वास कानूनों का उल्लंघन कर सकता है.

'माइक्रोसॉफ्ट ने एजेंसी को नहीं दी लेनदेन की सूचना'

गोपनीय मामले पर चर्चा करते हुए नाम न बताने की शर्त पर मामले से परिचित शख्स के मुताबिक, पूछताछ शुरुआती दौर में है और एजेंसी ने औपचारिक जांच नहीं की है.उन्होंने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट ने एजेंसी को लेनदेन की सूचना नहीं दी क्योंकि ओपनएआई में निवेश अमेरिकी कानून के तहत कंपनी के नियंत्रण के बराबर नहीं है. ओपनएआई एक गैर-लाभकारी संस्था है और गैर-कॉर्पोरेट संस्थाओं के अधिग्रहण को कीमत की परवाह किए बिना अमेरिकी विलय कानून के तहत रिपोर्ट नहीं किया जाता है. एजेंसी के अधिकारी स्थिति का विश्लेषण कर रहे हैं और आकलन कर रहे हैं कि इसके क्या विकल्प हैं. 

'OpenAI बोर्ड में माइक्रोसॉफ्ट के पास गैर-मतदान पर्यवेक्षक नहीं'

माइक्रोसॉफ्ट के एक प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा, "हालांकि हमारे समझौते का विवरण गोपनीय रहता है, लेकिन यह ध्यान रखना जरूरी है कि माइक्रोसॉफ्ट के पास ओपनएआई का कोई भी हिस्सेदारी नहीं है, वह सिर्फ शेयर प्रोफिट में हिस्सेदारी का हकदार है." इससे पहले शुक्रवार को, माइक्रोसॉफ्ट के अध्यक्ष ब्रैड स्मिथ ने कहा था, "केवल एक चीज जो बदल गई है वह यह है कि माइक्रोसॉफ्ट के पास अब ओपनएआई के बोर्ड में एक गैर-मतदान पर्यवेक्षक नहीं होगा." उन्होंने ओपनएआई के साथ अपने रिश्ते को यूके में Google द्वारा डीपमाइंड के पूर्ण अधिग्रहण से "बहुत अलग" बताया.

ओपनएआई के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, "माइक्रोसॉफ्ट के साथ हमारी साझेदारी हमें अपनी रिसर्च को को आगे बढ़ाने और स्वतंत्र रहते हुए और प्रतिस्पर्धी रूप से संचालन करते हुए सभी के लिए सुरक्षित और लाभकारी एआई उपकरण विकसित करने का अधिकार देती है.  उनका गैर-वोटिंग बोर्ड पर्यवेक्षक उन्हें ओपनएआई ऑपरेशन्स पर  गवर्निंग अथॉरिटी नहीं देता है." 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-"वापसी के लिए उत्सुक हूं...", बातचीत के बाद फिर से OpenAI CEO का पद संभालेंगे सैम ऑल्टमैन