रूसी नौसेना ने काला सागर में ब्रिटिश पोत को चेतावनी देने के लिए की फायरिंग : रिपोर्ट

न्यूज एजेंसी के हवाले से बताया गया कि एचएमएस डिफेंडर (HMS Defender) ने चेतावनी देने के लिए हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है, जब रूसी परिसंघ की सीमाओं का उल्लंघन किया गया हो. हालांकि इस हवाई फायरिंग के खिलाफ दूसरी ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई

रूसी नौसेना ने काला सागर में ब्रिटिश पोत को चेतावनी देने के लिए की फायरिंग : रिपोर्ट

रूसी मंत्रालय के अनुसार, क्रीमिया के केप फॉयलेंट तट के निकट यह घटना हुई.

मॉस्को:

रूसी नौसेना ने काला सागर (Black Sea) के निकट ब्रिटिश पोत को चेतावनी देने के लिए हवा में फायरिंग की. इंटरफैक्स न्यूज एजेंसी के हवाले से बताया गया कि एचएमएस डिफेंडर (HMS Defender) ने चेतावनी देने के लिए हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है, जब रूसी परिसंघ की सीमाओं का उल्लंघन किया गया हो. हालांकि इस हवाई फायरिंग के खिलाफ दूसरी ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई.रूसी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ब्रिटिश युद्धपोत ने काला सागर के निकट उसकी समुद्री सीमाओं का उल्लंघन किया. क्रीमिया को रूस ने 2014 में यूक्रेन से छीन लिया था. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि एक गश्ती नौका ने ये चेतावनी भरी फायरिंग की और युद्धपोत के रास्ते में चार बम भी गिराए. मंत्रालय ने कहा कि हवाई फायरिंग के बाद युद्धपोत रूसी जल क्षेत्र से बाहर चला गया.


रॉयल नेवी ने जून में पहले कहा था कि एचएमएस डिफेंडर ने काला सागर में "अपने स्वयं के मिशन" को अंजाम देने के लिए भूमध्य सागर में नाटो संचालन करने वाले अपने स्ट्राइक ग्रुप के जरिये हस्तक्षेप किया था. विमानों या जहाजों के रूसी सीमाओं के निकट आवाजाही असामान्य नहीं है, खासकर पश्चिमी देशों से तनाव के दौरान ऐसा देखा जाता है. लेकिन बेहद कम मौकों पर ही फायरिंग की जाती है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com