मंकीपॉक्स का खतरा अब नियमित पाये जाने वाले देशों से आगे बढ़ा, WHO ने की 1000 से अधिक मामलों की पुष्टि 

डब्ल्यूएचओ यह निर्धारित करने की कोशिश कर रहा है कि वर्तमान में मंकीपॉक्स से बचाव को लेकर कितनी खुराक उपलब्ध है और निर्माताओं से यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि उनकी उत्पादन और वितरण क्षमता क्या है.

मंकीपॉक्स का खतरा अब नियमित पाये जाने वाले देशों से आगे बढ़ा, WHO ने की 1000 से अधिक मामलों की पुष्टि 

मंकीपॉक्स के मामले

जिनेवा:

मंकीपॉक्स (Monkeypox) का खतरा अब धीरे-धीरे नियमित रूप से पाये जाने वाले देशों से भी आगे बढ़ गया है. डब्ल्यूएचओ ने बुधवार को चेतावनी दी, ऐसे देशों में अब तक एक हजार से भी अधिक मामलों की पुष्टि की गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) के प्रमुख टेड्रोस अदनोम ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने अभी वायरस के खिलाफ बड़े पैमाने पर टीकाकरण की सिफारिश नहीं की है.

उन्होंने कहा कि मंकीपॉक्स के प्रकोप से अब तक किसी भी मौत की सूचना नहीं मिली है. टेड्रोस ने कहा, "गैर-स्थानिक देशों में मंकीपॉक्स होने का खतरा वास्तविक है."

जूनोटिक रोग नौ अफ्रीकी देशों में मनुष्यों में स्थानिक है, लेकिन पिछले महीने कई अन्य राज्यों से भी प्रकोप की सूचना मिली है. ज्यादातर यूरोप में, और विशेष रूप से ब्रिटेन, स्पेन और पुर्तगाल में.

टेड्रोस ने कहा, "29 देशों से डब्ल्यूएचओ को अब मंकीपॉक्स के 1,000 से अधिक पुष्ट मामले सामने आए हैं, जो इस बीमारी के लिए एनडेमिक नहीं हैं. अब तक, इन देशों में कोई मौत नहीं हुई है. मामले मुख्य रूप से दर्ज किए गए हैं. कुछ देशों ने अब सामुदायिक प्रसार के मामलों की रिपोर्ट करनी शुरू कर दी है, जिसमें कुछ मामले महिलाओं में भी शामिल हैं."

WHO Report on Monkeypox: मंकीपॉक्स होता जा रहा खतरनाक, क्‍या जानलेवा है Monkeypox, कैसे फैलता है संक्रमण, क्‍या है इलाज, जानें लक्षण और बचाव के उपाय

मंकीपॉक्स के शुरुआती लक्षणों में तेज बुखार, सूजी हुई लिम्फ नोड्स और एक छाले वाले चिकनपॉक्स जैसे दाने शामिल हैं.
टेड्रोस ने कहा कि वह विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं और बच्चों सहित कमजोर समूहों के लिए वायरस के जोखिम के बारे में चिंतित थे. उन्होंने कहा कि स्थानिक देशों के बाहर मंकीपॉक्स की अचानक और अप्रत्याशित केस ने सुझाव दिया कि कुछ समय के लिए फैलाव हो सकता है, लेकिन यह कब तक ये पता नहीं.

टेड्रोस ने कहा, "जो समुदाय हर दिन इस वायरस के खतरे के साथ रहते हैं, वे समान चिंता, समान देखभाल और खुद को बचाने के लिए समान उपाय के हकदार हैं. कुछ जगहों पर जहां टीके उपलब्ध हैं, उनका उपयोग हेल्थ वर्कर्स जैसे लोगों की सुरक्षा के लिए किया जा रहा है."

उन्होंने कहा कि एक्सपोजर के बाद, आदर्श रूप से चार दिनों के भीतर टीकाकरण, उन उच्च जोखिम वाले करीबी संपर्कों, जैसे यौन साथी या घर के सदस्यों के लिए विचार किया जा सकता है.

Monkeypox: क्या चेचक की तरह है मंकीपॉक्स? यहां इस खतरनाक वायरस के बारे में वह सब कुछ है जो आपको जानना चाहिए

टेड्रोस ने कहा कि डब्ल्यूएचओ आने वाले दिनों में नैदानिक ​​देखभाल, संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण, टीकाकरण और सामुदायिक सुरक्षा पर मार्गदर्शन जारी करेगा. उन्होंने कहा कि लक्षणों वाले लोगों को घर पर अलग-थलग रहना चाहिए और स्वास्थ्य कार्यकर्ता से सलाह लेनी चाहिए, जबकि एक ही घर के लोगों को निकट संपर्क से बचना चाहिए.

डब्ल्यूएचओ ने सप्ताहांत में कहा कि मरीजों को अलग-थलग करने के अलावा, कुछ अस्पतालों में भर्ती होने की सूचना मिली है. डब्ल्यूएचओ की महामारी और रोकथाम निदेशक सिल्वी ब्रायंड ने कहा कि चेचक के टीके का इस्तेमाल उच्च स्तर की प्रभावकारिता के साथ, एक साथी ऑर्थोपॉक्सवायरस, मंकीपॉक्स के खिलाफ किया जा सकता है.
डब्ल्यूएचओ यह निर्धारित करने की कोशिश कर रहा है कि वर्तमान में कितनी खुराक उपलब्ध है और निर्माताओं से यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि उनकी उत्पादन और वितरण क्षमता क्या है.
 

ये भी पढ़ें:

घबराने की बात नहीं, अभी Monkeypox के वैश्विक महामारी में बदलने की संभावना नहीं : WHO

Monkeypox Virus: अब मंकीपॉक्स को लेकर WHO ने जताई चिंता, कई देशों में दी इसने दस्तक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

UAE में बढ़ा Monkeypox का डर, सामने आए तीन और मामले



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)