संकट में भारत से मिली सहायता को कई देशों ने सराहा, मदद देने का भरोसा जताया: सूत्र

फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा- भारत ने मानवता के लिए बहुत से देशों को निर्यात किया है, हम जानते हैं कि भारत किस स्थिति में है

संकट में भारत से मिली सहायता को कई देशों ने सराहा, मदद देने का भरोसा जताया: सूत्र

पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

भारत यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन (India EU Summit) में संकट की घड़ी में भारत की मदद को फ्रांस-स्पेन समेत कई देशों ने सराहा. उन्होंने भारत को कोरोना (Coronavirus) संक्रमण में हरसंभव मदद का भरोसा दिया. भारत-यूरोपीय संघ के राष्ट्राध्यक्षों एवं शासनाध्यक्षों की शिखर बैठक में आज सभी नेताओं ने कोरोना महामारी पर नियंत्रण में मदद करने का आश्वासान दिया. इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने भी भाग लिया. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि ''भारत को वैक्सीन आपूर्ति के बारे में किसी से भाषण सुनने की आवश्यकता नहीं है. भारत ने मानवता के लिए बहुत से देशों को निर्यात किया है. हम जानते हैं कि भारत किस स्थिति में है.'' 

यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन से सरकार के सूत्रों ने यह जानकारी दी है. सूत्रों ने बताया कि सभी नेताओं ने व्यक्तिगत रूप से पिछले साल भारत के चिकित्सा आपूर्ति करने पर धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि कोविड की सबसे खराब स्थिति के दौरान भारत ने मदद की. नेताओं ने कहा कि वे सभी भारत के लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त कर रहे हैं और जो भी सहायता प्रदान कर सकते हैं, प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

स्पेन के प्रधानमंत्री ने पिछले साल सबसे खराब समय के दौरान स्पेन को मिली भारतीय सहायता को विशेष रूप से गर्मजोशी से याद किया.

भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी ने यूरोपीय नेताओं से कोविड से संबंधित उपचार और टीके के लिए डब्ल्यूटीओ में ट्रिप्स (TRIPS) छूट का समर्थन करने का आग्रह किया. बेल्जियम के पीएम ने "केम छो" कहकर पीएम मोदी का स्वागत किया.

India-EU Summit में भारत को मिला यूरोपीय संघ का साथ मिल गया है. सभी देशों ने पिछले साल कोरोना से लड़ने में मिली भारत की मदद को याद किया और कहा कि भारत को हरसंभव मदद दी जाएगी. यह दूसरी बार है जब यूरोपीय संघ के सभी प्रमुखों ने किसी अन्य राष्ट्र प्रमुख से शीर्ष वार्ता की. इससे पहले यूरोपीय संघ के राष्ट्र प्रमुखों ने EU+27 Format में इस साल मार्च में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से वार्ता की थी. कोरोना के खिलाफ भारत की लड़ाई में इससे महत्वपूर्ण सहयोग मिला. 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के निमंत्रण पर विशेष आमंत्रित के रूप में यूरोपीय परिषद की बैठक में भाग लिया. भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं की बैठक की मेजबानी पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा ने की. वर्तमान में, यूरोपीय संघ के परिषद की अध्यक्षता पुर्तगाल के पास है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि प्रधानमंत्री का भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक में हिस्सा लेने पुर्तगाल जाने का कार्यक्रम था लेकिन देश में कोविड-19 के संक्रमण की दूसरी लहर के कारण उत्पन्न संकट को देखते हुए यह यात्रा स्थगित कर दी गई थी और दोनों पक्षों ने डिजिटल माध्यम से बैठक करने का निर्णय किया था.