ऐसा कुछ न करना कि रात में सो न सको": किम जोंग उन की बहन ने जो बाइडेन को दी चेतावनी

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकेन के सोमवार को जापान और दक्षिण कोरिया के दौरे के बीच ये धमकी नार्थ कोरिया ने दी है. अमेरिका परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया के खिलाफ उनके सहयोगी देशों के गठबंधन को मजबूत कर रहा है.

ऐसा कुछ न करना कि रात में सो न सको

Kim Jong Un उत्तर कोरिया का तनाशाह शासक है

सियोल:

अमेरिका दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति है, लेकिन उत्तर कोरिया जैसे कुछ देश उसे लगातार आंखें दिखाते रहते हैं. नार्थ कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग उन ( Kim Jong Un) के बाद उनकी बहन किम जोंग ने भी अमेरिका को धमकी दी है. उसने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) से कहा है कि ऐसा कुछ करने की जुर्रत न करें, जिससे कि उनकी रातों की नींद हराम हो जाए.

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकेन के सोमवार को जापान और दक्षिण कोरिया के दौरे के बीच ये धमकी नार्थ कोरिया ने दी है. अमेरिका परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया, चीन जैसे देशों के खिलाफ उनके सहयोगी देशों के गठबंधन को मजबूत कर रहा है. किम यो जोंग ( Kim Yo Jong) अपने भाई की मुख्य सलाहकार है और बाइडेन के राष्ट्रपति निर्वाचित होने के करीब 4 माह बाद पहली बार उत्तर कोरिया ने कोई आक्रामकता दिखाई है.


किम यो जोंग ने कहा कि शायद अमेरिका हमारे इलाके में बारूद की गंध को महसूस नहीं कर पा रहा है. हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के किम जोंग उन से कूटनीतिक रिश्ते मजबूत कर कोरिया कर परमाणु निशस्त्रीकरण की राह पर लाने की कोशिश नाकाम रही और ट्रंप शासन के आखिरी दौर में दोनों देशों के बीच टकराव खतरनाक स्तर पर पहुंच गया. उत्तर कोरिया पर कई तरह के वैश्विक आर्थिक प्रतिबंध लगाए गए हैं, जिससे वो हाशिये पर आ गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लेकिन कोरोना वायरस के दौरान बॉर्डर पूरी तरह बंद करने से उत्तर कोरिया और अलग-थलग पड़ गया. बाइडेन के जनवरी में सत्ता संभालने के पहले किम जोंग ने अमेरिका को अपना मुख्य शत्रु करार दिया था और पनडुब्बी से लांच की जाने वाले बैलेस्टिक मिसाइल का प्रदर्शन दुनिया के सामने किया था. किम यो जोंग अपने भाई की सलाहकार के साथ कोरियाई प्रायद्वीप के मामलों में प्रमुख आवाज के तौर पर जानी जाती है. पड़ोसी दक्षिण कोरिया से रिश्तों में तनाव के बाद उसने सीमा पर बने संपर्क कार्यालय को भी ध्वस्त कर दिया था. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)