"Covid19 को इंसान ने बनाया, चीन की वुहान लैब से हुआ लीक" : वैज्ञानिक ने नई किताब में किया दावा

 कोविड वायरस  दो साल पहले वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से लीक हुआ जो एक सरकारी फंडिंग वाली रिसर्च फैसिलिटी थी. " - वुहान लैब में काम कर चुके अमेरिकी वैज्ञानिक का दावा

चीन की वुहान लैब पर कोरोनावायरस लीक करने के आरोप पहले भी लगते रहे हैं (File Photo)

चीन (China) की विवादित वुहान लैब (Wuhan Lab) में काम कर चुके एक अमेरिकी वैज्ञानिक ने सनसनीखेज़ दावा किया है. इस वैज्ञानिक का कहना है कि COVID-19 वायरस  द्वारा लैब में तैयार किया गया जो उस फैसिलिटी से बाहर लीक हो गया. अमेरिकी शोधकर्ता एंड्रू हफ के ब्रिटिश अखबार द सन को दिए गए एक बयान के  आधार पर न्यूयॉर्क पोस्ट ने लिखा है कि  कोविड वायरस  दो साल पहले वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से लीक हुआ जो एक सरकारी फंडिंग वाली रिसर्च फैसिलिटी थी. 

अपनी नई किताब, " वुहान का सच" में,  महामारी विशेषज्ञ हफ ने दावा किया है कि यह महामारी चीन में कोरोनावायरस पर शोध के लिए अमेरिका की तरफ से दी गई की फंडिंग के कारण फैली. हफ की किताब के कुछ हिस्सों को ब्रिटेन के टेबलॉइड अखबार द सन ने प्रकाशित किया है.    

न्यूयॉर्क पोस्ट के अनुसार, हफ इकोहेल्फ एलाइंस के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट रहे हैं. यह न्यूयॉर्क का एक नॉन-प्रॉफिट आर्गनाइज़ेशन है जो संक्रामक बीमारियों पर शोध करता है.  

न्यूयॉर्क पोस्ट आगे लिखता है कि हफ ने दावा किया है कि उनकी किताब में बिना उचित सुरक्षा के चीन में कोरोना वायरस की क्षमता बढ़ाने वाले शोध किए गए. इसके कारण वुहान लैब से कोरोनावायरस लीक हो गया.  

वुहान लैब कोरोना की उत्पत्ति को लेकर शुरू से ही तीखी बहस के केंद्र में रहा है, चीनी सरकारी अधिकारी, और लैब कर्मचारी दोनों ही इस बात से इंकार करते हैं कि कोरोनावायरस की उत्पत्ति वहां से हुई.  

हफ ने अपनी किताब में कहा कि विदेश में मौजूद लैब में उचित बायोसेफ्टी, बायोसिक्योरिटी और रिस्क मैनेजमेंट के उपाय नहीं थे..इस कारण वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से कोरोनावायरस लीक हुआ. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पिछले एक दशक से अमेरिका के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ की तरफ से मिली फंडिंग से वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में चमगादड़ों में पाए जाने वाले कई कोरोनावायरसों पर शोध होता रहा है और उसने वुहान लैब से साथ अपने करीबी संबंधों को कभी सार्वजनिक नहीं किया.  

Featured Video Of The Day

मोबाइल फोन, एलईडी टीवी होंगे सस्ते, बजट 2023 पर क्या है पक्ष-विपक्ष की राय?