बांग्लादेश में चार हिंदू मंदिरों पर हमला, उपद्रवियों ने घरों और दुकानों को भी नहीं बख्शा

Hindu Temple Attack News : दंगाइयों ने सबसे पहले शियाली महाश्मशान मंदिर पर हमला बोला. फिर श्मशान और मंदिर में मूर्तियों को क्षतिग्रस्त किया. वहां से उपद्रवी शियाली पुरबापारा गए और हरि मंदिर, दुर्गा मंदिर और गोविंदा मंदिर में मूर्तियों को तोड़ दिया.

बांग्लादेश में चार हिंदू मंदिरों पर हमला, उपद्रवियों ने घरों और दुकानों को भी नहीं बख्शा

Bangladesh Hindu temples attacked : मंदिरों पर हमले के बाद सुरक्षा बढ़ाई गई (प्रतीकात्मक)

ढाका:

पाकिस्तान के बाद बांग्लादेश में भी हिन्दू मंदिरों पर हमले (Bangladesh Hindu temples attacked ) की घटना सामने आई है. बांग्लादेश के खुलना जिले (Khulna District) में हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों में विवाद के बाद चार हिन्दू मंदिरों में हमला किया गया. मूर्तियों को नुकसान पहुंचाया गया. उपद्रवियों ने हिन्दू समुदाय के लोगों के घरों और दुकानो में भी तोड़फोड़ की. पुलिस ने इस घटना के बाद इलाके में  भारी संख्या में तैनाती की है. साथ ही दस उपद्रवियों को गिरफ्तार भी किया है. बांग्लादेश के खुलना जिले में उपद्रवियों ने 4 मंदिरों, कुछ दुकानों और घरों पर हमला बोला. तनावग्रस्त इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. हाल ही में पाकिस्तान में (Pakistan) में हमलों की कई घटनाएं हुई हैं. 

पाकिस्तान ने हिंदू मंदिर के पुनर्निर्माण के लिए जारी किए करीब 4 करोड़ रुपये, कट्टरपंथियों ने तोड़ा था

घटना शनिवार को रूपशा उपजिला के शियाली गांव में हुई. शुक्रवार रात को गांव के हिंदू और मुस्लिम समुदाय के युवकों के बीच कहासुनी हुई थी. पीड़ितों  और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दंगाइयों ने सबसे पहले शियाली महाश्मशान मंदिर पर हमला बोला. फिर श्मशान और मंदिर में मूर्तियों को क्षतिग्रस्त कर दिया. वहां से उपद्रवी शियाली पुरबापारा इलाके में गए और हरि मंदिर, दुर्गा मंदिर और गोविंदा मंदिर में स्थापित मूर्तियों को तोड़ दिया.

खबरों के मुताबिक, हिंदू समुदाय के लोगों की छह दुकानों और दो घरों में भी तोड़फोड़ की गई. रूपशा उपजिला पूजा उद्यापन परिषद के महासचिव कृष्ण गोपाल सेन ने कहा कि हमलों के दौरान 4 मंदिरों में कम से कम 10 मूर्तियों को तोड़ा गया है. सेन का कहना है कि क्षेत्र में अत्यधिक तनाव है. मस्जिद के इमाम मौलाना नाजिम उद्दीन ने बताया कि ईशा की नमाज के दौरान हिंदू कीर्तन गाते हुए शियाली महाश्मशान मंदिर की ओर जा रहे थे, इस वजह से विवाद हुआ. नाजिम ने कहा, जब मैंने उनसे नमाज के दौरान मस्जिद के सामने कीर्तन नहीं गाने का अनुरोध किया, तो किसी ने मुझे धक्का दे दिया जिससे हालात बिगड़े.पुलिस के दखल के बाद स्थिति को सुलझा लिया गया.


हालांकि सेन ने कहा कि हिंदुओं के समूह में से किसी ने भी इमाम को धक्का नहीं दिया था.लेकिन स्थानीय प्रशासन हालात को नियंत्रण में रखने के लिए काम कर रहा है. स्थानीय निवासियों का दावा है कि हमलावर पड़ोसी शेखपुरा, बामनडांगा और चाडपुर इलाकों के थे. लेकिन उनकी पहचान अभी साबित नहीं हो सकी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रूपशा पुलिस थाने के प्रभारी सरदार मुशर्रफ हुसैन ने बताया कि हमलों के बाद तनाव बढ़ने पर इलाके में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है. हालात को नियंत्रण में रखने के लिए पुलिस सतर्क है.