'ज़ोर की आवाज़ आई, देखा, तो छत पर...' : अमेरिकी प्‍लेन से अफगानी युवकों के गिरने की कहानी, वली सालेक की ज़ुबानी

NDTV ने वली सालेक से बात की जिन्‍होंने दोनों युवाओं के आसमान से गिरने का मंजर बयां किया. वली ने बताया,  'सोमवार 16 अगस्‍त को दोपहर में, अपने परिवार के साथ मैं घर पर आराम कर रहा था. अचानक छत पर कुछ गिरने की बहुत ज़ोर से आवाज़ आई.

नई दिल्‍ली :

अफगानिस्‍तान पर तालिबानी लड़ाकों के कब्‍जे के बाद हर कोई जल्‍द से जल्‍द मुल्‍क छोड़ना चाहता था. इसके चलते 16 अगस्‍त को काबुल एयरपोर्ट पर बड़ी संख्‍या में लोग एकत्र हो गए थे . सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें अमेरिकी के प्‍लेन से दो युवा अफगानियों को आसमान से गिरते हुए देखा गया था. ये दोनों अफगानी व्‍यक्ति, वली सालेक के घर की छत पर गिरे थे. गिरने से इन दोनों की मौत हो गई थी, छत को भी खासा नुकसान पहुंचा था. NDTV ने वली सालेक से बात की जिन्‍होंने दोनों युवाओं के आसमान से गिरने का मंजर बयां किया. वली ने बताया,  'सोमवार 16 अगस्‍त को दोपहर में, अपने परिवार के साथ मैं घर पर आराम कर रहा था. अचानक छत पर कुछ गिरने की बहुत ज़ोर से आवाज़ आई, ऐसा लगा जैसे कोई टायर फ़टा हो. हमने छत पर जाकर देखा तो दो लोग मृत पड़े थे. दोनों के पेट और सर फट चुके थे. दोनों युवाओं की ऐसी हालत देखकर मेरी पत्नी और बेटी बेहोश हो गए.

काबुल एयरपोर्ट पर अफरातफरी का माहौल, टेकऑफ के बाद प्लेन से गिरे 2 लोग

वली के अनुसार, 'पड़ोसियों ने बताया कि ये दोनों हवाई जहाज़ से गिरे हैं.'हम दोनों युवाओं के शव पास वाली मस्जिद में ले गए. इनमें से एक की जेब में उसका बर्थ सर्टिफिकेट था जिसमें  शफ़ीउल्लाह होतक नाम दर्ज था. शफ़ीउल्लाह पेशे से डॉक्टर था, मरने वाले नाम दूसरे युवा का नाम फ़िदा मोहम्मद है.  इन दोनों की उम्र 30  वर्ष से कम है.


तालिबान के खिलाफ एकजुट हो रहे विरोधी, अहमद मसूद बोले-हमारे मुजाहिदीन संघर्ष को तैयार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ता‍लिबान के मुल्‍क पर नियंत्रण पर बात करते हुए वली सालेक ने कहा,' राजधानी काबुल सहित पूरे अफगानिस्‍तान में लोगों में दहशत है. अगर मुझे मौक़ा मिलेगा तो मैं भी अफ़ग़ानिस्तान छोड़ कर किसी और देश जाना चाहता हूं.' 47 साल के वली काबुल में सिक्‍युरिटी गार्ड हैं और उनका घर राजधानी के एयरपोर्ट से करीब चार किलोमीटर की दूरी पर है.