विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 04, 2023

मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना: CM योगी बोले- बेहतरीन काम करने वाले शोधार्थी को सरकारी नौकरी में मिलेगी छूट

मुख्यमंत्री ने शोधार्थियों से कहा कि अपने विकास खंडों को प्रदेश के सामान्य ब्लॉकों की श्रेणी में लाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ मेहनत करें, ये आपके लिए एक बड़ा अवसर है. इस कार्य में मदद के लिए आप सभी अपने मुख्य विकास अधिकारी और खंड विकास अधिकारी के साथ मिलकर अपने जमीनी अनुभवों को साझा करें.

Read Time: 3 mins
मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना: CM योगी बोले- बेहतरीन काम करने वाले शोधार्थी को सरकारी नौकरी में मिलेगी छूट

लखनऊ: CM योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन में आयोजित मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना से संबंधित कार्यक्रम के दौरान कहा कि मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के अंतर्गत प्रदेश के आकांक्षात्मक विकासखंडों में कार्य कर रहे शोधार्थी स्वयं को योजक के रूप में मानकर पूरी प्रतिबद्धता के साथ काम करें. आपके विकासखंडों में शिक्षा, स्वास्थ्य, किसान, महिला और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में कैसे बेहतरीन कार्य किया जा सकता है, जो शोधार्थी अपने तीन साल का टेन्योर मेहनत और प्रतिबद्धता के साथ पूरा करेगा और बेहतरीन शोध प्रबंधन लिखकर प्रस्तुत करेगा, सरकार की ओर से उसे उम्र में छूट के साथ सरकारी नौकरी में भी प्राथमिकता दिया जाएगा.

CM योगी ने कहा कि 2018 में नीति आयोग ने देश के 112 जनपदों को आकांक्षात्मक जनपद के रूप में चयनित किया था. इनमें उत्तर प्रदेश के आठ जिले, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, चंदौली, सोनभद्र, चित्रकूट और फतेहपुर जनपद शामिल किए गए. ये वो जनपद थे जो विकास की मुख्य धारा से पीछे छूट गये थे. उत्तर प्रदेश के सभी 8 जनपद देश के 112 आकांक्षात्मक जनपदों की लिस्ट में भी सर्वाधिक पिछड़े स्थान पर थे. शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और जल संसाधन, रोजगार, स्किल डेवलपमेंट, फाइनेंशियल इन्क्लूजन और इन्फ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में ये जिले पिछड़े थे. नियमित मॉनीटरिंग के कारण आज हमारे 8 में से 4 जनपद देश के टॉप 10 आकांक्षात्मक जनपद में जबकि, टॉप 20 में सभी हमारे सभी 8 जनपद शामिल हो चुके हैं.

मुख्यमंत्री ने बताया कि ना तो हमारे पास फंड की कमी है और ना ही मैन पॉवर की. हमारे शोधार्थी जोकि तीन साल के लिए फेलोशिप पर अपने अपने विकासखंडों में कार्य कर रहे हैं. वे योजक बनकर कार्य करें. ये सुनिश्चित करें कि हम सरकार की योजनाओं को कैसे जनता के साथ जोड़ सकते हैं. सभी शोधार्थी एक लक्ष्य लेकर चलें कि जबतक उनके फेलोशिप का टेन्योर खत्म हो तबतक उनका ब्लॉक सर्व शिक्षा अभियान में शत प्रतिशत हो, उनका ब्लॉक टीबी मुक्त हो चुका हो.

मुख्यमंत्री ने शोधार्थियों से कहा कि अपने विकास खंडों को प्रदेश के सामान्य ब्लॉकों की श्रेणी में लाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ मेहनत करें, ये आपके लिए एक बड़ा अवसर है. इस कार्य में मदद के लिए आप सभी अपने मुख्य विकास अधिकारी और खंड विकास अधिकारी के साथ मिलकर अपने जमीनी अनुभवों को साझा करें. सीएम ने कहा कि सरकार योजनाएं चलाती है, मगर जनता को उससे जोड़ने का कार्य कठिन होता है, ऐसे में योजक के रूप में आप कार्य करें.

ये भी पढ़ें :

राहुल गांधी की सजा पर रोक 'नफरत के खिलाफ मोहब्बत की जीत' : कांग्रेस
"राहुल गांधी की टिप्पणी गुड टेस्ट में नहीं थी... ", मोदी सरनेम केस में सुप्रीम कोर्ट
"महात्मा गांधी की वजह से भारत के साथ रहा जम्मू-कश्मीर": आर्टिकल 370 पर बोले फारूक अब्दुल्ला

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
UP में जानलेवा साबित हो रहा मॉनसून, जानें बाढ़ का कितना और कहां पड़ा असर
मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना: CM योगी बोले- बेहतरीन काम करने वाले शोधार्थी को सरकारी नौकरी में मिलेगी छूट
"दिल में कुछ है, लेकिन बोल नहीं पा रहा..." : 2024 के रिजल्ट से पहले क्या कहते-कहते रुक गए मुख्य चुनाव आयुक्त?
Next Article
"दिल में कुछ है, लेकिन बोल नहीं पा रहा..." : 2024 के रिजल्ट से पहले क्या कहते-कहते रुक गए मुख्य चुनाव आयुक्त?
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;