बागपतः पुलिस दबिश के दौरान आरोपी की मां और दो बहनों ने खाया जहर, हालत गंभीर

पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी व लड़की गांव में ही घर पर हैं. इस पर पुलिस दबिश देने गई थी. जादौन ने बताया कि इसी दौरान घर में मौजूद आरोपी युवक की मां अनुराधा एवं दो बहनों ने सल्फास व चूहे मारने वाली दवा खा ली. 

बागपतः पुलिस दबिश के दौरान आरोपी की मां और दो बहनों ने खाया जहर, हालत गंभीर

पुलिस दबिश के दौरान आरोपी की मां और उसकी दो बहनों ने जहर खा लिया. (प्रतीकात्‍मक)

बागपत :

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत जनपद के छपरौली थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में मंगलवार को पुलिस दबिश के दौरान आरोपी की मां और दो बहनों द्वारा कथित तौर पर जहर खाने का मामला सामने आया है. पुलिस हालत बिगड़ने पर तीनों को नजदीकी अस्पताल ले गई, जहां से डॉक्टरों ने उन्हें मेरठ के अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. बागपत के पुलिस अधीक्षक नीरज जादौन ने बताया कि तीन मई को छपरौली गांव के एक ग्रामीण ने तहरीर दी थी कि उसकी बेटी को लेकर गांव के ही प्रिन्स नामक युवक फरार हो गया है. इस मामले में पुलिस लड़के के घर लगातार दबिश दे रही है. 

उन्होंने बताया कि मंगलवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी व लड़की गांव में ही घर पर हैं. इस सूचना पर आज शाम करीब सात बजे पुलिस दबिश देने गई थी. 

"मैं अखिलेश यादव को AC रूम से बाहर खींच लाऊंगा" : समाजवादी पार्टी के सहयोगी

जादौन ने बताया कि इसी दौरान घर में मौजूद आरोपी युवक की मां अनुराधा एवं दो बहनों ने सल्फास व चूहे मारने वाली दवा खा ली. 

पुलिस ने इनको पहले पास के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया वहां से उन्हें मेरठ के सुभारती अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. तीनों की हालत गंभीर बताई जा रही है.

VIDEO: अलीगढ़ में एक सोसाइटी के दलित परिवारों ने घर के बाहर लगाए 'मकान बिकाऊ है' के पोस्‍टर

एसपी के अनुसार आरोपी युवक की मां एवं दो बहनों ने जहर क्यों खाया इसका अभी पता नहीं चल सका है. उन्होंने बताया कि अबतक प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोपी की मां और दोंनो बहनों को डर था कि आरोपी के नहीं पकड़े जाने पर पुलिस उनको हिरासत में ले सकती है.

एसपी के अनुसार पुलिस दबिश के दौरान गांव के लोग भी मौजूद थे. उन्होंने दावा कि इस दौरान पुलिस ने आरोपी के परिजनों के साथ कोई अभद्र व्यवहार नहीं किया. 

(अगर आपको सहायता की ज़रूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं, जिसे मदद की दरकार है, तो कृपया अपने नज़दीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं)

हेल्‍पलाइन :
1) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ - 9999666555 अथवा help@vandrevalafoundation.com
2) TISS iCall - 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध - सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उत्तर प्रदेश में सरकारी चिट्ठी ने मचाया हड़कंप, राशन कार्ड वापस करने वालों का तांता लगा | पढ़ें