SBI Easy Ride Scheme : बाइक के लिए लोन लेना हुआ आसान, घर बैठे मिलेगी 3 लाख तक की रकम

SBI Easy Ride : SBI के कस्टमर अधिकतम 3 लाख रुपए के टू-व्हीलर लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. 4 वर्ष की मैक्सिमम ड्यूरेशन के लिए 3 लाख के लोन पर 10.5% प्रतिवर्ष के हिसाब से ब्याज देना होगा. इस स्कीम में मिनिमम लोन अमाउंट 20,000 रुपये तय किया गया है.

SBI Easy Ride Scheme : बाइक के लिए लोन लेना हुआ आसान, घर बैठे मिलेगी 3 लाख तक की रकम

SBI Yono App पर ले सकेंगे टू-व्हीलर लोन.

नई दिल्ली:

SBI Easy Ride: भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक यानी SBI ने प्री-अप्रूव्ड टू-व्हीलर लोन योजना ‘SBI Easy Ride' शुरू करने की घोषणा की है. इस योजना की सबसे खास बात ये है कि योग्य ग्राहक बिना बैंक शाखा गए ही लोन पा सकते हैं. दरअसल ग्राहक YONO ऐप के जरिए एंड-टू-एंड डिजिटल टू-व्हीलर लोन का बेनेफिट ले सकते हैं. कस्टमर अधिकतम तीन लाख रुपए के टू-व्हीलर लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं. 4 वर्ष की मैक्सिमम ड्यूरेशन के लिए 3 लाख के लोन पर 10.5% प्रतिवर्ष के हिसाब से ब्याज देना होगा. इस स्कीम में मिनिमम लोन अमाउंट 20,000 रुपये तय की गई है.  

'SBI Easy Ride' की खासियत

  • ‘एसबीआई ईज़ी राइड' के तहत आसान ब्याज दरों पर 3 लाख तक का लोन मिलेगा.
  • पात्रता के हिसाब से गाड़ी की ऑन-रोड कीमत का 85% तक का लोन मिलेगा. अधिकतम 48 महीनों की अवधि के लिए ये लोन दिया जा रहा है.
  • लोन की राशि डीलर के खाते में ट्रांसफर हो जाएगी.
  • SBI के ग्राहक बैंक शाखा में गए बिना YONO ऐप के माध्यम से एंड-टू-एंड डिजिटल टू-व्हीलर लोन का फायदा ले सकते हैं.

ये भी पढ़ें : SBI कस्टमर्स! पेंशन स्कीम में निवेश कर कमाएं अच्छा रिटर्न, YONO ऐप पर NPS Account के लिए करें रजिस्टर

YONO के साथ आसान हुई बैंकिंग


एसबीआई का कहना है कि मौजूदा डिजिटल बदलाव के बीच एसबीआई, योनो ऐप के जरिए ग्राहकों को उनके घर तक बैंकिंग की सुविधा देने का प्रयास करता है.  करीब चार साल पहले नवंबर 2017 में लॉन्च हुए YONO ऐप ने 89 मिलियन डाउनलोड और 42 मिलियन से अधिक रजिस्टर्ड यूजर्स के साथ ग्राहकों के बीच बड़ी मौजूदगी दर्ज कराई है. SBI ने YONO पर 20 से अधिक कैटेगरीज  में 110 से अधिक ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ पार्टनरशिप की है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : कोविड प्रभावित क्षेत्रों के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपये की योजना