यह ख़बर 04 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

पेस की हार से विंबलडन में भारतीय चुनौती समाप्त

फाइल फोटो

लंदन:

लिएंडर पेस की आज यहां पुरुष युगल के सेमीफाइनल में हार के साथ ही भारत की विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप में चुनौती भी समाप्त हो गई। पेस और चेक गणराज्य के रादेक स्टेपनेक की पांचवीं वरीयता प्राप्त जोड़ी को दो घंटे 21 मिनट तक चले मुकाबले में कनाडा के वासेक पोसपिसिल और अमेरिका के जैक सॉक की गैर वरीय जोड़ी के हाथों 6-7, 3-6, 4-6 से हार का सामना करना पड़ा।

पेस और स्टेपनेक को पूरे मैच में दस बार ब्रेक प्वाइंट लेने का मौका मिला, लेकिन वे केवल दो बार ही अपनी प्रतिद्वंद्वी टीम की सर्विस तोड़ पाए। दूसरी तरफ पोसपिसिल और सॉक ने आठ में से चार अवसरों पर ब्रेक प्वाइंट हासिल किए। दोनों जोड़ियों ने पहले सेट में एक एक बार एक दूसरे की सर्विस तोड़ी। इससे यह सेट टाईब्रेकर तक खिंच गया, जिसमें पोसपिसिल और सॉक ने 7-5 से जीत दर्ज की।

दूसरे दौर में रोहन बोपन्ना और ऐसाम उल हक कुरैशी की आठवीं वरीय जोड़ी को उलटफेर का शिकार बनाने वाले पोसपिसिल और सॉक ने अच्छा प्रदर्शन जारी रखा। उन्होंने दूसरे सेट में दो और तीसरे सेट में एक ब्रेक प्वाइंट हासिल करके फाइनल में अपनी जगह सुनिश्चित की, जहां उनका मुकाबला अमेरिका के ब्रायन बंधुओं बॉब और माइक ब्रायन से होगा। इस शीर्ष वरीय जोड़ी ने एक अन्य सेमीफाइनल में माइकल लोड्रा और निकोलस माहूट की फ्रांसीसी जोड़ी को 7-6, 6-3, 6-2 से हराया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पेस की हार के साथ विंबलडन में भारत की चुनौती भी समाप्त हो गई। सानिया मिर्जा और रोमानिया के उनके जोड़ीदार होरिया टेकाउ कल मिश्रित युगल के तीसरे दौर में ब्रिटेन के जैमी मर्रे और ऑस्ट्रेलिया की केसी डेलेक्वा की जोड़ी ने 5-7, 3-6 से हार गए थे। पेस मिश्रित युगल में दूसरे, जबकि बोपन्ना तीसरे दौर में हार गए थे। वहीं सानिया महिला युगल में दूसरे दौर से आगे नहीं बढ़ पाई थी।