कांग्रेस में खींचतान : पंजाब के बाद राजस्थान में 'सुलह का फॉर्मूला तैयार', पार्टी नेतृत्व खत्म करेगा गुटबाजी

राज्य में कैबिनेट का विस्तार होना है और 9 नए मंत्री बनाए जाने हैं. इसमें कितने पायलट समर्थक होंगे इस पर विचार जारी है.

कांग्रेस में खींचतान : पंजाब के बाद राजस्थान में 'सुलह का फॉर्मूला तैयार', पार्टी नेतृत्व खत्म करेगा गुटबाजी

अगस्त के दूसरे हफ्ते में मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है.

नई दिल्ली:

पंजाब के बाद अब राजस्थान कांग्रेस में जारी खींचतान को खत्म करने की कवायद तेज हो गई है. अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी खींचतान को दूर करने के लिए कांग्रेस महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अजय माकन फिर जयपुर के दौरे पर पहुंच रहे हैं. वह आज जयपुर पहुंचेंगे और अगले दो दिनों तक यहीं रहेंगे. अजय माकन और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल पिछले हफ़्ते भी जयपुर का दौरा कर चुके हैं. 

राज्य में कैबिनेट का विस्तार होना है और 9 नए मंत्री बनाए जाने हैं. इसमें कितने पायलट समर्थक होंगे इस पर विचार जारी है. सूत्रों मुताबिक सुलह का फॉर्मूला तैयार है और दोनों पक्षों में जल्द सहमति की उम्मीद है. 

पंजाब के बाद अब राजस्थान में गुटबाजी खत्म करेगी कांग्रेस, कैबिनेट विस्तार से निकालेगी हल!

सूत्र बताते हैं कि पायलट कम से कम 6 मंत्री पद चाहते हैं जबकि गहलोत 2 से 3 मंत्री पद ही देना चाहते हैं. लेकिन कांग्रेस हाइकमान बीच का रास्ता निकालने की कोशिश में है. अगर दोनों पक्षों में संतुलन बन गया तो अगस्त के दूसरे हफ्ते में मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है.


बता दें, पिछले साल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व के तरीके के खिलाफ सचिन पायलट ने खुला विद्रोह कर दिया था. सचिन पायलट अपने समर्थक 18 विधायकों को लेकर दिल्ली आ गए थे, लेकिन पार्टी नेतृत्व से मुलाकात के बाद वह मान गए थे.  तभी से उनकी मांग रही है कि उनके लोगों को मंत्रिमंडल में जगह मिले.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राजस्थान में गहलोत कैबिनेट के विस्तार के आसार, पायलट समर्थकों को मिल सकती है जगह