लॉन्ग जंप में बना नेशनल रिकॉर्ड- 'Super Shoes' से दुनिया भर के एथलीटों को फायदा

कैलीकट, केरल में चल रहे 25वें नेशनल Federation Cup में भारतीय लॉन्ग जंपर्स कारनामों के बाद सुर्खियों में है.

लॉन्ग जंप में बना नेशनल रिकॉर्ड- 'Super Shoes' से दुनिया भर के एथलीटों को फायदा

लॉन्ग जंपर्स (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • लॉन्ग जंप में बना नेशनल रिकॉर्ड
  • 'Super Shoes' से दुनिया भर के एथलीटों को फायदा
  • केरल में चल रहा है 25वां Federation Cup
नई दिल्ली :

टोक्यो ओलिंपिक्स में नीरज चोपड़ा के ऐतिहासिक गोल्डन थ्रो के बाद दुनिया भर के एक्सपर्ट्स की नजर अब भारत पर टिक गई हैं. कैलीकट, केरल में चल रहे 25वें नेशनल Federation Cup में भारतीय लॉन्ग जंपर्स कारनामों के बाद सुर्खियों में है. भारत की पूर्व स्टार लॉन्ग जंपर और एथलेटिक्स संघ की सीनियर वाइस प्रेसीडेंट अंजू बॉबी जॉर्ज एथलीटों  के इस प्रदर्शन से बेहद खुश हैं और इसे पेरिस ओलिंपिक्स के लिए अच्छा संकेत मान रही हैं. NDTV संवाददाता विमल मोहन से बात करते हुए उन्होंने बताया कि ये एथलेटिक्स संघ की लॉन्ग टर्म प्लानिंग का नतीजा है कि एक साथ कई इवेंट्स में अच्छे नतीजे आ रहे हैं. लेकिन ये भी कहा कि इसमें 'नई तकनीक' का भी बड़ा हाथ है. 

सवाल- कैलीकट में भारतीय लॉन्ग जंपर्स ने कमाल का प्रदर्शन किया है. श्रीशंकर ने 8.36 मीटर का नेशनल रिकॉर्ड बनाया. बड़ी बात ये भी है कि गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज तीनों मेडल विजेताओं ने 8 मीटर से ज़्यादा जंप लगाया. दरअसल उस दिन 9 जंप 8 मीटर से ऊपर रहे. ये सब कैसे मुमकिन हुआ लगता है?

IPL 2022 में इस टीम के खिलाफ खेलेंगे ग्लेन मैक्सवेल पहला मुकाबला, कोच माइक हेसन ने किया खुलासा


अंजू बॉबी जॉर्ज- सबसे पहले तो लॉन्ग जंपर्स ने शानदार प्रदर्शन किया है. उन्हें बहुत बधाई. श्रीशंकर और जेसविन ऑल्ड्रिन को वर्ल्ड चैंपियनशिप (15-24 जुलाई, अमेरिका) में भी प्रदर्शन करने का मौक़ा मिलेगा ये बड़ी बात है. लेकिन इस लंबे जंप की बड़ी वजह कार्बन प्लेट वाले स्पाइक्स का इस्तेमाल भी है जिसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 'सुपर शूज' कहा जा रहा है. 

सवाल- क्या ये 'सुपर शूज' दुनिया भर के एथलीट इस्तेमाल कर रहे हैं? क्या फायदा हो सकता है इससे?

अंजू बॉबी जॉर्ज- बिल्कुल. टोक्यो ओलिंपिक्स में कुछ इवेंट्स में इसके इस्तेमाल की इजाजत दी गई थी. ये कार्बन फाइबर प्लेटेड शूज होते हैं जो स्पाइक के हील में लगे होते हैं. इससे पहले के बजाय एथलीटों को ज्यादा स्टैबिलिटी मिलती है. पहले हमारे स्पाइक स्टेबल नहीं थे, वॉबल करते थे. अब इनसे दुनिया भर के एथलीटों की जंप 15 से 20 सेंटीमीटर तक बेहतर हो सकती है. दुनिया भर में इसकी वजह से कई नए रिकॉर्ड बनने वाले हैं. 

सवाल- एम श्रीशंकर और जेसविन ऑल्ड्रिन ने 8.36 मीटर और 8.37 मीटर (विंड स्पीड +4.1m/s) जंप लगाया. श्रीशंकर के जंप को एशिया के अबतक के 10 बेस्ट जंप में बताया जा रहा है. इन दोनों को आप कैसे आंकती हैं?

अंजू बॉबी जॉर्ज- दोनों बेहद अच्छे एथलीट हैं. इनसे उम्मीदें भी हैं. लेकिन इनकी परख अंतर्राष्ट्रीय स्तर के टूर्नामेंट में होगी. इनके लिए आगे बड़े इम्तिहान हैं. इन्हें सही मायने में आंकने के लिए इनके अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में प्रदर्शन का इंतजार करना होगा. 

KKR की सबसे बड़ी खोज निकला यह भारतीय तेज गेंदबाज, टीम के मेंटर ने खुद किया खुलासा

सवाल- आपकी एथलीट शैली सिंह से क्या उम्मीदें हैं ? क्या वो भी 'सुपर शूज़' का इस्तेमाल करेंगी?

अंजू बॉबी जॉर्ज- बिल्कुल. शैली भी 'सुपर शूज' का इस्तेमाल कर रही हैं. उन्होंने World U20 Championships में पिछले साल नैरोबी में सिल्वर मेडल (6.48मीटर) जीता और साबित किया है कि वो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी कमाल कर सकती हैं. इस साल वो यूरोपीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगी. वहां उनकी भी परख होगी. 

सवाल- जैवलिन के अलावा और किन इवेंट्स में भारतीय एथलीटों से उम्मीद की जाएगी?

अंजू बॉबी जॉर्ज-  एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने पांच खास इवेेट्स पर फोकस करना शुरू किया है. लॉन्ग टर्म प्लान बनाया है. हम जैवलिन, लॉन्ग जंप, डिस्कस, वॉकिंग और 400 मीटर रेस पर फ़ोकस कर रहे हैं. ये तकनीकी इवेंट्स हैं जहां भारतीय अच्छा कर सकते हैं. जैसे, कैरीबियाई देश और अमेरिका स्प्रिंट पर, इथोपिया, केन्या और युगांडा जैसे देश मिडिल और लॉन्ग डिस्टेंस में अच्छा करते हैं, हमारे एथलीट भी टेक्नीकल इवेंट्स में अच्छा कर सकते हैं. हमारा टारगेट 2024 पेरिस ओलिंपिक्स और 2028 लॉस एंजेल्स ओलिंपिक्स है. 

IPL से जुड़ी Latest Updates के लिए अभी NDTV Sports Hindi को सब्सक्राइब करें. Click to Subscribe

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com