महाराष्ट्र में नहीं थम रहा Coronavirus, 55469 नए मामले, 297 और मरीजों की मौत

महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के 55,469 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 31,13,354 हो गए.

महाराष्ट्र में नहीं थम रहा Coronavirus, 55469 नए मामले, 297 और मरीजों की मौत

देश में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • महाराष्ट्र में कोरोना के 55469 नए मामले
  • राज्य में 297 और कोरोना मरीजों की मौत
  • प्रदेश में कोरोना के 4,72,283 एक्टिव केस
मुंबई:

महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के 55,469 नए मामले सामने आए, जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 31,13,354 हो गए. इसके साथ ही महामारी से 297 और मरीजों की मौत हो गई, जिससे मृतकों की संख्या 56,330 पर पहुंच गई. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. राज्य में अभी COVID-19 के 4,72,283 मरीज उपचाराधीन हैं. विभाग की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार, अब तक 25,83,331 मरीज ठीक हो चुके हैं.

इस बीच बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) ने कहा कि मुंबई के निजी अस्पताल, सर्दी-जुकाम जैसे लक्षणों वाले गंभीर मरीजों की रेपिड एंटीजन जांच कर सकते हैं लेकिन बिना लक्षणों वाले मरीजों की यह जांच नहीं की जाएगी. आरएटी जांच से कोरोना संक्रमण का जल्दी पता चला जाता है.

मुंबई में पांच से अधिक संक्रमित मरीजों वाले भवन होंगे सील, BMC ने जारी की नई गाइडलाइन

बीएमसी द्वारा पांच अप्रैल को जारी नए दिशा-निर्देशों के अनुसार, स्थानीय अधिकारियों की अनुमति के बिना कोई भी अस्पताल रेपिड एंटीजन जांच शुरू नहीं कर सकता है. बीएमसी ने कहा कि बिना लक्षणों वाले मरीजों की आरएटी जांच नहीं की जा सकती है.

बताते चलें कि केंद्र सरकार ने मंगलवार को कहा कि महामारी की तीव्रता बढ़ने के कारण पिछले वर्ष के मुकाबले कोविड-19 बहुत तेज गति से फैल रहा है और इसे देखते हुए अगले चार सप्ताह बेहद अहम रहने वाले हैं. सरकार ने संक्रमण की दूसरी लहर को काबू में करने के लिए जनभागीदारी पर जोर दिया.

मुंबई में कोरोना के 10030 नए मामले आए सामने, एक दिन में सर्वाध‍िक मरीजों की मौत

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉक्टर वीके पॉल (VK Paul) ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मामले तेजी से बढ़ने से देश में महामारी के हालत और खराब हुए हैं. उन्होंने कहा कि महामारी से लड़ने के हथियार वहीं हैं. कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन करना, निरुद्ध क्षेत्रों की पहचान, जांच आदि को और प्रभावी तरीके से लागू किया जाना चाहिए, चिकित्सा ढांचे में सुधार और टीकाकरण अभियान तेजी से चलाए जाने की जरूरत है.


वीके पॉल ने कहा,‘‘महामारी की तीव्रता बढ़ गई है और यह पिछली बार के मुकाबले ज्यादा तेजी से फैल रही है. कुछ राज्यों में यह (हालात) अन्य के मुकाबले ज्यादा खराब है लेकिन बढ़ोतरी (मामलों में) देश भर में देखी जा सकती है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: महाराष्ट्र में कोरोना हुआ बेकाबू, इन जिलों में सबसे ज्यादा केस



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)