महाराष्‍ट्र में बढ़ रहे कोविड केस, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने जताई आशंका-तीसरी लहर में 60 लाख लोग हो सकते हैं संक्रमित

मुंबई में जो अस्पताल, कोविड मरीज़ कम होने से नॉन-कोविड मरीज़ों के लिए जगह बना चुके थे अब फिर कोविड के लिए बेड बढ़ाने की क़वायद में जुट गए हैं.

महाराष्‍ट्र में बढ़ रहे कोविड केस, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने जताई आशंका-तीसरी लहर में 60 लाख लोग हो सकते हैं संक्रमित

Covid-19 Cases in Maharashtra: महाराष्‍ट्र में खास ऐहतियात बरती जा रही (प्रतीकात्‍मक फोटो)

मुंबई :

Maharashtra: महाराष्‍ट्र (Maharashtra) की राजधानी मुंबई में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है.  पिछले दस दिनों में संक्रमण के मामलों में करीब 100% का इजाफा हुआ है. महाराष्ट्र ने भी लगातार दूसरे दिन 5 हजार से अधिक मामले रिपोर्ट किए गए हैं. स्वास्थ्य मंत्री बताते हैं कि राज्य में तीसरी लहर के दौरान 60 लाख मामले रिपोर्ट हो सकते हैं. महानगर मुंबई में दस दिनों पहले तक 200 से भी कम मामले रिपोर्ट किए जा रहे थे, यह संख्‍या अब क़रीब 400 पहुंच गई है. क़रीब दो हफ़्तों में ही मुंबई में 100% मामले बढ़े दिख रहे हैं. अगस्त में रोज़ाना संक्रमण के आँकड़े में ये सबसे बड़ा उछाल है. 

कोरोना केसों में आया उछाल तीसरी लहर की दस्‍तक तो नहीं!, बूस्‍टर डोज की मांग कर रहे हेल्‍थ वर्कर्स


महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के अनुसार, त्योहारों का मौसम ख़त्म होते होते राज्य में तीसरी लहर के दौरान 60 लाख मामले दर्ज होने का अंदेशा है. ऐसे में बड़ा ज़ोर मेडिकल उपकरण और ऑक्‍सीजन उत्पादन बढ़ाने पर है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, 'पहले 1300 MT ऑक्‍सीजन उत्पादन की क्षमता थी, उसको बढ़ाकर 2000 MT कर दिया है. इसके साथ ही लिक्विड मेडिकल ऑक्‍सीजन के स्टोरेज की भी व्यवस्था की है. पहली लहर में 20 लाख, दूसरी में 40 लाख और आशंका जताई जा रही है कि तीसरी लहर में  60 लाख कोविड-19 मामले दिख सकते हैं. अनुभव रहा है कि 12% मरीज़ों को ऑक्‍सीजन की ज़रूरत पड़ेगी.  इसी को ध्‍यान में रखते हुए हमने ये सारी तैयारी की है.' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुंबई में इसके लिए पूर्व तैयारी की जा रही है. जो अस्पताल, कोविड मरीज़ कम होने से नॉन-कोविड मरीज़ों के लिए जगह बना चुके थे अब फिर कोविड के लिए बेड बढ़ाने की क़वायद में जुट गए हैं. बृहन्‍नमुंबई म्‍युनिसिपल कार्पोरेशन (BMC)के अस्पताल अलर्ट पर हैं.  सायन अस्पताल के डीन डॉक्‍टर मोहन जोशी कहते हैं, 'अगर मामले बढ़े तो नॉन-कोविड एरिया कोविड में फ़ौरन तब्दील कर दिए जाएंगे .सरकार द्वारा पाबंदियां हटाई गई हैं. होटल-रेस्टोरेंट-मॉल-जिम सब खुल गए हैं तो भीड़ बढ़ गई है. कोविड नियम फ़ॉलो नहीं किए जा रहे हैं इसलिए मामले थोड़े बढ़ते दिख रहे हैं.' कोरोना की फिर से दस्‍तक मुंबई में कुछ इस कदर महसूस हुई कि एक अनाथ आश्रम-स्कूल में 22 बच्चे एक साथ संक्रमित पाए गए और पूरे स्कूल को सील कर दिया गया. उधर कांदिवली इलाक़े की इमारत से 14 मामलों के आने के बाद पूरी हाउज़िंग सोसायटी सील कर दी गई है.