बिहार : कांग्रेस और राजद के बीच अब भी फंसा है पेंच, जानें- क्या है पूरा मामला

अभी तक राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस के बीच कुछ सीटों को लेकर पेंच फंसा हुआ है. कांग्रेस अभी भी दरभंगा सीट पर कीर्ति आजाद की उम्मीदवारी के समर्थन को लेकर अड़ी हुई है, जबकि राजद ने इस सीट से अब्दुल बारी सिद्दिकी को अपना उम्मीदवार बनाया है.

पटना:

बिहार में महागठबंधन के बीच सीट बंटवारे को लेकर प्रेस कॉन्फ़्रेंस अब आज सुबह होगी. आज इस बात का ऐलान किया जाएगा कि कौन सी पार्टी किस सीट पर चुनाव लड़ेगी. लेकिन इस ऐलान से पहले आरजेडी और कांग्रेस के बीच दो सीटों- दरभंगा और सुपौल पर पेच फंस गया है. हालांकि एसी ख़बर है कि कीर्ति आज़ाद को दरभंगा की बजाय किसी और सीट से उतारा जा सकता है. वो बेतिया की सीट हो सकती है. दरअसल आरजेडी ने दरभंगा सीट से अब्दुल बारी सिद्दीक़ी को उतारने का ऐलान किया है. अगर सुपौल सीट की बात करें तो यहां कांग्रेस की मौजूदा सांसद रंजीत रंजन की दावेदारी को लेकर वैसे तो कोई दिक़्क़त नहीं है लेकिन आरजेडी का कहना है कि अगर रंजीत रंजन के पति पप्पू यादव मधेपुरा से महागठबंधन के उम्मीदवार शरद यादव के ख़िलाफ़ निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे तो आरजेडी नेता और कार्यकर्ता सुपौल में रंजीत रंजन का समर्थन नहीं करेंगे.

लोकसभा चुनाव : महागठबंधन में ठुकराए गए बिहार के इस सांसद को कन्हैया कुमार ने दिया समर्थन

राजद के स्थानीय विधायक और कार्यकर्ताओं का कहना है कि रंजीत रंजन ने पिछले विधानसभा चुनाव में भी उन लोगों की मदद नहीं की थी और इस बार जब पप्पू यादव खुद महागठबंधन के ख़िलाफ़ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं तो फिर रंजीता रंजन का वे समर्थन क्यों करें. जानकारी के मुताबिक आज इसी ऊहापोह में तेजस्वी यादव ने अपना चुनावी दौरा भी रद्द कर दिया है. दूसरी तरफ, शत्रुघ्न सिन्हा की भी आज कांग्रेस में ज्वाइनिंग टल गई है. इसके पीछे भी कांग्रेस-आरजेडी के बीच सीटों को लेकर फंसे पेंच को वजह बताया जा रहा है. दूसरी तरफ, झारखंड को लेकर भी पेंच फंसा दिखा रहा है. दरअसल, झारखंड में सीट बंटवारे के तहत राजद को पलामू की सीट दी गई है, लेकिन पार्टी ने चतरा में लालू यादव के करीबी सुभाष यादव को अपना सिम्बल दे दिया है. जिसको लेकर सभी सहयोगी, ख़ासकर कांग्रेस इस बात पर अड़ी हुई है कि सुभाष से सिंबल वापस लिया जाए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लोकसभा चुनाव : महागठबंधन में ठुकराए गए बिहार के इस सांसद को कन्हैया कुमार ने दिया समर्थन