विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 21, 2019

Elections 2019: विपक्षी नेताओं ने चुनाव आयोग को दिया ज्ञापन, काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की उठाई मांग

Elections 2019: विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव आयोग को ज्ञापन देकर काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की मांग की है.

Read Time: 17 mins
Elections 2019: विपक्षी नेताओं ने चुनाव आयोग को दिया ज्ञापन, काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की उठाई मांग
चुनाव 2019: विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की मांग की.
नई दिल्ली:

Elections 2019: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) खत्म होने और एग्जिट पोल (Exit Poll) में एक बार फिर मोदी सरकार आने की संभावना जताए जाने के बाद ईवीएम (EVM) का मुद्दा फिर तूल पकड़ता दिख रहा है. चुनाव के नतीजे आने से पहले EVM और VVPAT के मुद्दे पर कांग्रेस, सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस सहित 22 प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार को बैठक की और इसमें ईवीएम (EVM) से जुड़ी शिकायतों एवं वीवीपैट (VVPAT) के मुद्दे पर चर्चा की गई. बैठक के बाद विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने चुनाव आयोग को ज्ञापन देकर काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की मांग की है. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने चुनाव आयोग को ज्ञापन देने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि विपक्षी दलों ने मतों की गिनती से पहले ईवीएम को कहीं और ले जाने पर चिंता व्यक्त की. वहीं, बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बड़े पैमाने पर ईवीएम से जुड़ी गड़बड़ियां हुई हैं. हम केंद्रीय बलों की तैनाती की मांग करते हैं. वहीं, टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हमने चुनाव आयोग से जनादेश के सम्मान करने को कहा है. इसमें हेरफेर नहीं किया जाए. 

Advertisement

बता दें कि इससे पहले विपक्षी दलों ने मतगणना के दौरान किसी भी मतदान केंद्र पर विसंगति पाए जाने की स्थिति में देश भर में सभी विधानसभा क्षेत्रों में ईवीएम के आंकड़ों के साथ वीवीपैट मशीन की पर्ची से मिलान किये जाने की मांग की थी. इस संबंध में अदालत ने मतगणना के दौरान पूरे देश में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के पांच मतदान केंद्रों के ईवीएम आंकड़ों का मिलान वीवीपैट की पर्ची से करने के लिए निर्वाचन आयोग को कहा था, जिससे चुनाव परिणाम आने में देरी हो सकती है. दिल्ली में सभी विपक्षी दल इकट्ठे हुए हैं.

इस बैठक में कांग्रेस से अहमद पटेल, अशोक गहलोत, गुलाम नबी आजाद और अभिषेक मनु सिंघवी, माकपा से सीताराम येचुरी, तृणमूल कांग्रेस से डेरेक ओब्रायन, तेदेपा से चंद्रबाबू नायडू, आम आदमी पार्टी से अरविंद केजरीवाल, सपा से रामगोपाल यादव, बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा एवं दानिश अली, द्रमुक से कनिमोई, राजद से मनोज झा, राकांपा से प्रफुल्ल पटेल एवं माजिद मेमन और कई अन्य पार्टियों के नेता शामिल हुए.

Advertisement

UP, बिहार में EVM की 'संदिग्ध आवाजाही' से विपक्ष सकते में, EC ने कहा- आरोप बेबुनियाद 

बता दें, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने मंगलवार को पहले से निर्धारित दिल्ली का अपना दौरा रद्द कर दिया है जहां उन्हें इेलक्ट्रानिक वोटिंग मशीन के मुद्दे पर विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेना था. मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) बिना कारण बताये ने कहा, ‘मुख्यमंत्री का दिल्ली का प्रस्तावित दौरा आज रद्द हो गया है.' इससे पहले मीडिया को जारी किये गए मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के अनुसार कुमारस्वामी को विशेष विमान से 11 बजे दिल्ली के लिए रवाना होना था और आज शाम को वापस आने से पहले उन्हें विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेना था.

Advertisement

राबड़ी देवी ने उठाया चुनाव आयोग पर सवाल- ट्रकों में पकड़ी जा रही EVM, ये कहां से आ रही है, कहां जा रही है?

Advertisement

बता दें, लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले कांग्रेस एवं दूसरे प्रमुख विपक्षी दलों के नेता मंगलवार को यहां मुलाकात कर राजनीतिक हालात पर तथा सरकार बनाने के दावे के लिए गैर-राजग गठबंधन बनाने की संभावनाओं पर चर्चा करेंगे. विपक्ष को एकजुट करने के प्रयास के तहत आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलुगूदेशम पार्टी के नेता एन चंद्रबाबू नायडू ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ उनके कोलकाता स्थित आवास पर बैठक की और त्रिशंकु परिणाम की स्थिति में केंद्र में गैर-भाजपाई सरकार बनाने की संभावना पर उनसे चर्चा की.

Exit Poll के आंकड़े आने के बाद शिवसेना ने की राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की तारीफ, जानें क्या कहा 

नायडू ने ‘महागठबंधन' की भविष्य की रणनीति पर बनर्जी के साथ 45 मिनट तक बातचीत की जिस दौरान उन्होंने कांग्रेस के समर्थन से क्षेत्रीय दलों के साथ गैर-भाजपाई सरकार बनाने की संभावना पर गुफ्तगू की. एक सूत्र ने कहा, ‘बैठक में फैसला किया गया कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद त्रिशंकु परिणाम की स्थिति में महागठबंधन के अन्य भागीदारों के साथ विस्तार से चर्चा की जाएगी.' सूत्र ने कहा कि ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे पर भी फैसला 23 मई के बाद लिया जाएगा.

किसकी सरकार बना रहा है सट्टा बाजार, जानें- BJP और कांग्रेस को मिलेंगी कितनी सीटें

Video: ईवीएम सुरक्षा को लेकर लगाए जा रहे आरोपों को EC ने बताया बेबुनियाद

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Elections 2019: तेजस्वी यादव नहीं डाल पाए वोट तो BJP ने कसा तंज, फिर RJD ने बताई ये वजह
Elections 2019: विपक्षी नेताओं ने चुनाव आयोग को दिया ज्ञापन, काउंटिंग से पहले सभी VVPAT पर्चियों की गिनती की उठाई मांग
Elections 2019: तेजस्वी यादव नहीं डाल पाए वोट तो BJP ने कसा तंज, फिर RJD ने बताई ये वजह
Next Article
Elections 2019: तेजस्वी यादव नहीं डाल पाए वोट तो BJP ने कसा तंज, फिर RJD ने बताई ये वजह
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;