डॉक्टर से जानिए कैल्शियम की कमी के कारण और किस तरह पूरी करें Calcium Deficiency हड्डियों की सेहत के लिए 

Calcium Deficiency: मैक्स सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल के सीनियर डॉ. एल तोमर से जानिए शरीर में होने वाली कैल्शियम की कमी को किस तरह पहचाना जा सकता है और इससे निजात पाने के लिए खानपान में किन चीजों को शामिल करना चाहिए. 

डॉक्टर से जानिए कैल्शियम की कमी के कारण और किस तरह पूरी करें Calcium Deficiency हड्डियों की सेहत के लिए 

Calcium Rich Foods: इस तरह दूर होगी कैल्शियम की कमी. 

Bone Health: हड्डियां कमजोर होने के मुख्य कारणों में कैल्शियम की कमी को देखा जाता है. चाहे बच्चे हों, युवा हों या फिर बुजुर्ग हड्डियों में दर्द एक बढ़ती हुई समस्या है. इसी दिक्कत को देखते हुए एनडीटीवी ने खास बातचीत की मैक्स सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल, पड़पड़गंज के डिपार्टमेंट ऑफ ओर्थोपेडिक्स एंड जोइंट रिप्लेसमेंट के सीनियर डायरेक्टर और यूनिट हेड डॉ. एल तोमर से. डॉ. तोमर ने बताया कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) को किस तरह पहचानें, इस कमी के कारण और हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम के स्त्रोतों के बारे में. 

बालों और स्किन के लिए घर पर बनाइए डिटॉक्स वॉटर, पीने पर अंदरूनी रूप से बढ़ती है सुंदरता 


कैल्शियम की कमी और हड्डियों की सेहत | Calcium Deficiency And Bone Health 


किन कारणों से होती है कैल्शियम की कमी 


डॉ. एल. तोमर के अनुसार कैल्शियम की कमी की वजह से हड्डियां कमजोर (Weak Bones) हो जाती हैं जिसे हम मेडिकल टर्म में ओस्टोपोरोसिस बोलते हैं. कैल्शियम की कमी की सबसे बड़ी वजह खानपान में कैल्शियम का पर्याप्त मात्रा में ना होना है. कुछ मेडिकल कंडीशंस जैसे हार्मोनल कंडीशन और मेटाबॉलिक कंडीशंस भी हैं जिनमें डिजीज प्रोसेस के कारण कैल्शियम की कमी हो सकती है. अगर किसी की डाइट में कैल्शियम भरपूर है लेकिन आंतों में किसी तरह की दिक्कत है तो उसकी वजह से भी कैल्शियम की कमी हो सकती है. इसमें आंतों में कैल्शियम का ऑब्जोर्प्शन ठीक तरह से नहीं हो पाता है. कैल्शियम की कमी चाहे डाइट (Diet) की वजह से हो या फिर किसी बीमारी की वजह से, हड्डियां कमजोर हो जाती हैं. 

कैल्शियम की कमी के लक्षण 


शरीर में किन कारणों से कैल्शियम की कमी होती है इसपर डॉ. तोमर बताते हैं कि कैल्शियम की कमी से जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द रहने लगता है, कई बार मांसपेशियों में जकड़न (Muscle Cramps) रहने की शिकायत बहुत होती है. इसके अलावा शरीर में कमजोरी महसूस होना और एनर्जी लेवल कम होना भी कैल्शियम की कमी से होता है. कैल्शियम की कमी अगर बहुत ज्यादा हो जाती है तो फ्रेक्चर होने की संभावना बढ़ जाती है, हड्डियां टेढ़ी-मेढ़ी होने का खतरा भी रहता है. कैल्शियम की कमी दिल की सेहत पर भी असर डालती है. इसमें बीपी हाई होना या हार्ट अटैक की संभावना बढ़ना शामिल है. 

कैल्शियम की कमी पूरी करना 

  • यह सवाल करने पर कि कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए डाइट में किन-किन चीजों को शामिल किया जाना चाहिए डॉ. तोमर जवाब देते हैं कि सबसे पहले डॉक्टरी सलाह से मेडिकल कंडीशंस का पता लगाया जाना जरूरी है कि कोई इंटेस्टाइनल या हार्मोनल प्रोब्लम ना हो. 
  • खानपान में कैल्शियम की पूर्ति करने के लिए कैल्शियम से भरपूर चीजों (Calcium Rich Foods) जैसे दूध और दुग्ध पदार्थ, अंडे जोकि कैल्शियम के साथ-साथ प्रोटीन के भी अच्छे स्त्रोत हैं, मांसाहारी फूड और फलों को डाइट का हिस्सा बनाया जा सकता है. 
  • हड्डियों की सेहत को अच्छा रखने के लिए कैल्शियम की पूर्ति के साथ-साथ एक्सरसाइज किया जाना भी जरूरी है. 
  • कैल्शियम की टैबलेट्स भी लिए जा सकते हैं लेकिन किस तरह के कैल्शियम की जरूरत है यह डॉक्टर ही बता पाएंगे. 
  • इसके अलावा विटामिन डी (Vitamin D) से भरपूर चीजें खाना और धूप लेना जरूरी है क्योंकि कैल्शियन सोखने के लिए विटामिन डी की जरूरत होती है. 

बालों और स्किन के लिए घर पर बनाइए डिटॉक्स वॉटर, पीने पर अंदरूनी रूप से बढ़ती है सुंदरता 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मलाइका अरोड़ा योगा क्‍लास के बाहर हुईं स्‍पॉट, हाथ हिलाकर किया पैपराजी का अभिवादन

Featured Video Of The Day

Ind vs Ban 1st ODI : पहले वनडे मैच में भारत को मिली करारी हार