राजस्थान में रिश्वतखोरी के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय के 2 अधिकारी गिरफ्तार

राजस्थान में प्रवर्तन निदेशालय के दो अधिकारियों को कथित तौर पर रिश्वत मांगने के आरोप में अरेस्ट किया गया है. दोनों अधिकारियों ने कथित तौर पर चिटफंड मामले में केस दर्ज करने से रोकने के लिए 17 लाख रुपये की मांग की.

राजस्थान में रिश्वतखोरी के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय के 2 अधिकारी गिरफ्तार

राजस्थान में ईडी के अधिकारी गिरफ्तार (प्रतीकात्मक चित्र)

जयपुर:

राजस्थान में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी के दो अधिकारियों को कथित तौर पर रिश्वत मांगने के आरोप में अरेस्ट किया गया है. दोनों अधिकारियों ने कथित तौर पर चिटफंड मामले में केस दर्ज करने से रोकने के लिए 17 लाख रुपये की मांग की. राजस्थान भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने एक बयान में कहा कि ईडी के दो अधिकारियों को रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है.एसीबी ने बयान में कहा कि एसीबी की एक टीम ने दो ईडी इंस्पेक्टरों को 17 लाख रुपये लेते हुए पकड़ा है. एसीबी ईडी के इन इंस्पेक्टरों के परिसरों की तलाशी भी ले रही है. 

कुछ दिन पहले ईडी ने राजस्थान में मारा था छापा

बता दें कि कुछ दिन पहले ही ईडी राजस्थान के पूर्व शिक्षा मंत्री और कांग्रेस (Congress) नेता गोविंद सिंह डोटासरा से जुड़े कई स्थानों पर छापेमारी की थी. ईडी की ये रेड जयपुर, दौसा और सीकर में हुई थी. ED को इन नेताओं के खिलाफ पेपर लीक मामले, मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला के ज़रिए रुपयों के लेनदेन मामलों की गुप्त शिकायतें मिली थी.पिछले दिनों आरपीएसी सदस्य बाबुलाल कटारा से हुई पूछताछ, कुछ कोचिंग संचालकों की ईडी में शिकायतों के बाद यह कार्रवाई हुई थी. 

राजस्थान सीएम और डोटासारा ने एक्स पर दी थी प्रतिक्रिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ईडी के इस एक्शन पर गोविंद सिंह डोटासारा ने एक्स पर सत्यमेव जयते लिखा था. वहीं राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने भी इस मसले पर एक्स पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने लिखा था कि राजस्थान की महिलाओं के लिए कांग्रेस की गारंटियां लॉन्च के बाद राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह जी डोटासरा के यहां ED की रेड. मेरे बेटे वैभव गहलोत को ED में हाज़िर होने का समन. इससे अब आप समझ सकते हैं, जो मैं कहता आ रहा हूं कि राजस्थान के अंदर ED की रेड रोज़ इसलिए होती है क्योंकि भाजपा ये नहीं चाहती कि राजस्थान में महिलाओं को, किसानों को, गरीबों को कांग्रेस द्वारा दी जा रही गारंटियों का लाभ मिल सके.