विज्ञापन
Story ProgressBack

जम्मू-कश्मीर में 4 दिन में 4 आतंकी हमले, आतंकियों ने घाटी में कहां-कहां फैलाई दशहत

Terrorists Attack in Jammu & Kashmir : रियासी में श्रद्धालुओं की बस पर कायरतापूर्ण हमले के बाद मंगलवार और बुधवार को भी आतंकियों ने एक बार फिर से घाटी में दहशत फैलाई. इस बार आतंकियों ने कठुआ और डोडा को निशाना बनाया, हालांकि अलर्ट सेना ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया.

जम्मू-कश्मीर में 4 दिन में 4 आतंकी हमले, आतंकियों ने घाटी में कहां-कहां फैलाई दशहत
Terrorists Attack : सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को किया ढेर
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले हमेशा ही चिंता का सबब रहे हैं. पिछले कुछ दिनों में फिर से घाटी में आतंकियों ने कई जगहों पर दहशत फैलाई. रियासी, कठुआ और डोडा में पिछले बीते 4 दिनों में चार आतंकी घटनाएं सामने आ चुकी है. इन चार आतंकी हमलों में 9 श्रद्धालुओं की जान चली गई.  वहीं 1 जवान शहीद हुआ और 2 आतंकी मारे गए. चारों आतंकी हमलों में सेना के जवानों समेत कई लोग भी घायल हुए हैं.

4 दिन में घाटी में ये चार आतंकी घटनाएं कहां-कहां से सामने आई है, यहां जानिए.

11-12 जून

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन में दो आतंकी मारे गए. इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया. ये मुठभेड़ मंगलवार शाम को शुरू हुई और बुधवार दोपहर तक चली. मुठभेड़ में मारे गए लोग हाल ही में घुसपैठ करने वाले एक समूह का हिस्सा थे. वहीं इस मुठभेड़ में घायल हुए नागरिक की हालत स्थिर है और वह खतरे से बाहर है.

कठुआ के हीरानगर इलाके के सैदा सोहल गांव में मुठभेड़ हुई, दो आतंकी गांव में घुसे थे और कुछ घरों से पानी मांगा था. सूचना मिलते ही एसएचओ और एसडीपीओ की टीमें मौके पर पहुंचीं और गोलीबारी में एक आतंकवादी मारा गया. मारे गए आतंकियों के पास से ग्रेनेड, आईईडी, अमेरिका निर्मित एम4 कार्बाइन और अन्य युद्ध संबंधी सामान बरामद किया गया. इस बीच, हीरानगर इलाके में छिपे हुए आतंकियों ने पुलिस के वाहनों पर गोलीबारी की, जिसमें दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बाल-बाल बच गए.

घाटी में एक मुठभेड़ डोडा के चतरगल्ला इलाके में हुई. जहां आतंकवादियों ने सेना और पुलिस के संयुक्त नाका (चेकपोस्ट) पर गोलीबारी की, जिसमें पांच जवान और एक एसपीओ घायल हो गए. सुरक्षाबलों ने इलाके में घेराबंदी और सर्च ऑपरेशन शुरू किया.

9 जून

जम्मू-कश्मीर का रियासी  इलाके में आतंकवादियों ने यहां से गुजर रही तीर्थयात्रियों की बस पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी, जिसमें 9 श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि कई अन्य घायल हो गए. आतंकवादियों की फायरिंग में बस भी खाई में जा गिरी थी, इसके बावजूद आतंकी बस में मौजूद लोगों पर गोलियां बरसाते रहे. इस हमले ने देश भर के लोगों को गमगीन कर दिया. इस हमले को अंजाम देने वाले आतंकी पर 20 लाख का इनाम रखा गया है.

1 जून

एक जून को घाटी  के पुंछ जिले के बुफ्लियाज जंगल में आतंकवादी गतिविधि की सूचना मिली. ये सूचना मिलने पर तलाशी अभियान शुरू किया गया.

24 मई

सांबा जिले के बेईन-लाल चक सीमावर्ती गांव में संदिग्ध गतिविधि की सूचना मिली; जिसके बाद घर-घर तलाशी ली गई.

19 मई

कठुआ जिले के तरनाह नाला सीमा पर एसपीओ द्वारा 3 हथियारबंद लोगों को देखे जाने की सूचना मिली. आतंकियों के देखे जाने की सूचना मिलने के बाद तलाशी अभियान चलाया गया.

14 मई

कठुआ जिले के जाखोले-जुथाना जंगल के पास एक महिला से खाना मांग रहे पांच-छह हथियारबंद लोगों की सूचना मिलने के बाद उन्हें खोजने के लिए भी तलाशी अभियान चलाया गया.

28 अप्रैल

उधमपुर जिले के पनारा गांव में ग्राम रक्षा रक्षक की हत्या.

ये भी पढ़ें : आतंकियों ने कठुआ के गांव कई घरों से मांगा पानी... लोगों के मना करने पर की फायरिंग; मुठभेड़ में दोनों की मौत

ये भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर के कठुआ में जारी मुठभेड़ में दूसरा आतंकी भी ढेर

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET-UG मामले में एनटीए ने सुप्रीम कोर्ट में एक अतिरिक्त हलफनामा किया दाखिल
जम्मू-कश्मीर में 4 दिन में 4 आतंकी हमले, आतंकियों ने घाटी में कहां-कहां फैलाई दशहत
NEET पर 'सुप्रीम' सुनवाई: जानिए वकीलों ने क्या दीं दलीलें, जज साहब ने क्या कुछ कहा? 10 बड़ी बातें
Next Article
NEET पर 'सुप्रीम' सुनवाई: जानिए वकीलों ने क्या दीं दलीलें, जज साहब ने क्या कुछ कहा? 10 बड़ी बातें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;