18 दिनों में 8 वाकयों के बाद सरकार ने स्पाइसजेट से मांगा जवाब

DGCA ने पिछले 18 दिनों में तकनीकी खराबी की आठ घटनाओं के बाद स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया.

नई दिल्ली:

स्पाइसजेट विमान से जुड़ी लगातार कई घटनाएं सामने आने के बाद उड्डयन नियामक ने एयरलाइन से स्पष्टीकरण मांगा और कहा कि स्पाइटजेट सुरक्षित, विश्वसनीय हवाई सेवा स्थापित करने में विफल रहा..." है.  DGCA ने पिछले 18 दिनों में तकनीकी खराबी की आठ घटनाओं के बाद स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस जारी किया.

आज भी एयरलाइन ‘स्पाइसजेट' ने बताया कि मौसम संबंधी रडार के काम ना करने की वजह से उसका एक मालवाहक विमान मंगलवार को कोलकाता लौट आया. चीन के चोंग्किंग शहर जा रहे विमान के पायलट को उड़ान भरने के बाद ही पता चल गया था कि उसका मौसम संबंधी रडार काम नहीं कर रहा है. ‘स्पाइसजेट' के विमान में तकनीकी खराबी का पिछले 18 दिन में सामने आया यह आठवां मामला है.

‘स्पाइसजेट' के दिल्ली से दुबई जा रहे एक विमान को ईंधन संकेतक में खराबी के कारण मंगलवार को कराची की ओर मोड़ दिया गया था. वहीं उसके कांडला से मुंबई जा रहे विमान को बीच हवा में ‘विंडशील्ड' में दरार आने के बाद महाराष्ट्र की राजधानी में प्राथमिकता के आधार पर उतारा गया था.

‘स्पाइसजेट' के प्रवक्ता ने बुधवार को ‘पीटीआई-भाषा' से कहा, ‘‘ पांच जुलाई 2022 को ‘स्पाइसजेट बोइंग 737' मालवाहक विमान को कोलकाता से चोंग्किंग जाना था. विमान के उड़ान भरने के बाद मौसम संबंधी रडार, मौसम की जानकारी नहीं दे रहा था. इसके बाद, पीआईसी (पायलट-इन-कमांड) ने कोलकाता लौटने का फैसला किया. विमान कोलकाता में सुरक्षित उतर गया है.''

ये VIDEO भी देखें- लोगों के जी का जंजाल बनी मुंबई की बारिश, भारी बारिश का अलर्ट जारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)