केंद्रीय कर्मचारियों की वेतन बढ़ोतरी में हो सकती है दो महीने की देरी

केंद्रीय कर्मचारियों की वेतन बढ़ोतरी में हो सकती है दो महीने की देरी

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

लाखों केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी में दो महीने की देरी हो सकती है। कर्मचारियों की वेतन बढ़ोतरी के बारे में बनाए गए सातवें वेतन आयोग को इस महीने के आखिर तक अपनी अंतिम रिपोर्ट केंद्र सरकार को सौंपनी थी, लेकिन सूत्रों के मुताबिक इसमें 15 सितंबर तक की देरी होगी।

सातवें वेतन आयोग द्वारा केंद्रीय कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र घटाने या बढ़ाने की उम्मीद नहीं है। सूत्रों के मुताबिक वेतन आयोग कोई अंतरिम रिपोर्ट पेश नहीं करेगा। पीएम मोदी की एनडीए सरकार भले ही इसे जब भी स्वीकार करे, लेकिन नई सैलरी अगले वर्ष 1 जनवरी से लागू होगी।

सातवें वेतन आयोग के अध्यक्ष जस्टिस एके माथुर ने सरकार से दो महीने का एक्सटेंशन मांगा है। इस आयोग का गठन फरवरी, 2014 में तत्कालीन यूपीए सरकार द्वारा किया गया था और इसे 18 महीने में रिपोर्ट पेश करने को कहा गया था।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केंद्रीय कर्मचारियों में से 90 फीसदी सैन्य और अर्धसैनिक बलों में काम करते हैं, जबकि बाकी रेलवे और डाक विभाग में कार्यरत हैं। सूत्रों के मुताबिक आयोग को उम्मीद थी कि सरकार वन रैंक वन पेंशन पर कोई फैसला लेगी, जिसे उन्हें सैलरी रिविजन करते वक्त ध्यान में रखना होगा।