मदन मोहन मालवीय की जयंती पर उनके लेखों एवं भाषणों के संग्रह का पीएम मोदी करेंगे विमोचन

लवीय द्वारा लिखे और दिये गए भाषण से संबंधित दस्तावेजों पर शोध और संकलन का कार्य महामना मालवीय मिशन द्वारा किया गया, जो उनके विचारों के प्रचार-प्रसार के लिए समर्पित एक संस्था है.

मदन मोहन मालवीय की जयंती पर उनके लेखों एवं भाषणों के संग्रह का पीएम मोदी करेंगे विमोचन

मदन मोहन मालवीय की 162वीं जयंती पर पीएम मोदी उनके लेखों एवं भाषणों के संग्रह का विमोचन करेंगे.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार को जानेमाने स्वतंत्रता सेनानी एवं शिक्षाविद् मदन मोहन मालवीय की 162वीं जयंती पर उनके लेखों एवं भाषणों के संग्रह की पहली श्रृंखला का विमोचन करेंगे. एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अमृत काल में, देश के लिए बहुत बड़ा योगदान देने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को उचित मान्यता प्रदान करना प्रधानमंत्री का दृष्टिकोण रहा है. इसमें कहा गया, 'कलेक्टेड वर्क्स ऑफ पंडित मदन मोहन मालवीय' इस दिशा में एक प्रयास है.

इसमें कहा गया है कि 4,000 पन्नों वाली एवं 11 खंडों वाली द्विभाषी (अंग्रेजी और हिंदी) कृति देश के कोने-कोने से एकत्र किए गए मालवीय के लेखों और भाषणों का संग्रह है.

इन खंडों में उनके अप्रकाशित पत्र, लेख और भाषण, ज्ञापन सहित, 1907 में उनके द्वारा शुरू किए गए हिंदी साप्ताहिक 'अभ्युदय' की संपादकीय सामग्री, समय-समय पर उनके द्वारा लिखे गए लेख, पर्चे और पुस्तिकाएं और 1903 और 1910 के बीच आगरा और अवध के संयुक्त प्रांत की विधान परिषद में दिए गए सभी भाषण शामिल हैं.

मालवीय द्वारा लिखे और दिये गए भाषण से संबंधित दस्तावेजों पर शोध और संकलन का कार्य महामना मालवीय मिशन द्वारा किया गया, जो उनके विचारों के प्रचार-प्रसार के लिए समर्पित एक संस्था है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बयान में कहा गया है कि वरिष्ठ पत्रकार राम बहादुर राय के नेतृत्व में एक समर्पित टीम ने भाषा और पाठ में कोई बदलाव किए बिना मालवीय के मूल साहित्य पर काम किया है. बयान में कहा गया है कि इन पुस्तकों का प्रकाशन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत प्रकाशन प्रभाग द्वारा किया गया है.