विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 25, 2023

लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट आशीष मिश्रा की जमानत याचिका पर आज सुनाएगा फैसला

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने पिछले साल 26 जुलाई को आशीष मिश्रा की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. आशीष मिश्रा ने उच्च न्यायालय के आदेश को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी.

Read Time: 13 mins
लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट आशीष मिश्रा की जमानत याचिका पर आज सुनाएगा फैसला
3 अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में आठ लोगों की मौत होने के बाद हिंसा भड़क गई थी

नई दिल्‍ली: सुप्रीम कोर्ट बुधवार को 2021 के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की जमानत याचिका पर अपना फैसला सुनाएगा. शीर्ष अदालत की वेबसाइट पर अपलोड की गई 25 जनवरी की सूची के अनुसार, न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति जे के माहेश्वरी की पीठ इस मामले में आदेश सुनाएगी. सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने 19 जनवरी को आशीष मिश्रा की अर्जी पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था.

Advertisement

तिकुनिया में आठ लोगों की मौत होने के बाद भड़की थी हिंसा
3 अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में आठ लोगों की मौत होने के बाद हिंसा भड़क गई थी. ये घटना तक हुई, जब किसान उत्तर प्रदेश के तत्कालीन उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इलाके में दौरे का विरोध कर रहे थे. उत्तर प्रदेश पुलिस की प्राथमिकी के अनुसार, एक एसयूवी ने चार किसानों को कुचल दिया, जिसमें आशीष मिश्रा बैठे थे. इस घटना के बाद, एसयूवी के चालक और दो भाजपा कार्यकर्ताओं को कथित रूप से गुस्साए किसानों ने पीट-पीट कर मार डाला. हिंसा में एक पत्रकार की भी मौत हो गई थी. 

सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था...
इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने पिछले साल 26 जुलाई को आशीष मिश्रा की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. आशीष मिश्रा ने उच्च न्यायालय के आदेश को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी. उच्चतम न्यायालय ने 19 जनवरी को सुनवाई के दौरान कहा था कि एक आरोपी को अनिश्चित काल के लिए कारावास में नहीं रखा जाना चाहिए, जब तक कि अपराध साबित ना हुआ हो. हालांकि, शीर्ष अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

Advertisement

मामले में आशीष मिश्रा के अलावा 12 अन्य आरोपी
उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त महाधिवक्ता गरिमा प्रसाद ने जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि यह एक गंभीर और जघन्य अपराध है और जमानत देने से समाज में गलत संदेश जाएगा. इस मामले में आशीष मिश्रा के अलावा 12 अन्य आरोपियों में अंकित दास, नंदन सिंह बिष्ट, लतीफ काले, सत्यम उर्फ ​​सत्य प्रकाश त्रिपाठी, शेखर भारती, सुमित जायसवाल, आशीष पांडे, लवकुश राणा, शिशु पाल, उल्लास कुमार उर्फ ​​मोहित त्रिवेदी, रिंकू राणा और धर्मेंद्र बंजारा शामिल हैं. सभी 13 आरोपी अभी जेल में हैं और इन सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की दंगा से संबंधित धारा 147 और 148, 149 (गैरकानूनी विधानसभा), 302 (हत्या) और 307 (हत्या का प्रयास) समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है.

Advertisement
(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
क्या था भारत-पाकिस्तान के बीच लाहौर समझौता? जिस पर नवाज शरीफ ने मानी गलती
लखीमपुर खीरी हिंसा : सुप्रीम कोर्ट आशीष मिश्रा की जमानत याचिका पर आज सुनाएगा फैसला
नरेंद्र मोदी फिर मुख्यमंत्री बनें... यह क्या बोल गए नीतीश कुमार; देखें VIDEO
Next Article
नरेंद्र मोदी फिर मुख्यमंत्री बनें... यह क्या बोल गए नीतीश कुमार; देखें VIDEO
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;