विज्ञापन
Story ProgressBack

दिल्ली की दीवारों पर फिर लिखे खालिस्तान के समर्थन में नारे, इसके पीछे आतंकी गुरुपवंत पन्नू तो नहीं ?

अमेरिका में बैठे खालिस्तानी आतंकी गुरुपवंत सिंह पन्नू ने सोशल मीडिया पर नारे (Khalistan Supporting Slogans) लिखवाए जाने की जिम्मेदारी ली है. इस मामले में मेट्रो पुलिस ने भी केस दर्ज किया है और मामले की जांच की जा रही है.

Read Time: 3 mins
दिल्ली की दीवारों पर फिर लिखे खालिस्तान के समर्थन में नारे, इसके पीछे आतंकी गुरुपवंत पन्नू तो नहीं ?
दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों पर खालिस्तान के समर्थन में लिखे नारे.
नई दिल्ली:

दिल्ली में खालिस्तान के समर्थन में एक बार फिर से नारे (Khalistan Slogan) लिखे जाने का मामला सामने आया है. करोलबाग और झंडेवालान मेट्रो स्टेशन के नीचे खालिस्तान के समर्थक नारे लिखे गए हैं. पुलिस (Delhi Police) को जैसे ही इस मामले की जानकारी मिली, उनकी टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई.

पुलिस ने वहां पहुंचकर इन देश विरोधी नारों को मिटाया. 'खालिस्तान जिंदाबाद' वाले नारे आखिर लिखे किसने, पुलिस अब आरोपी की तलाश कर रही है. इसके लिए सीसीटीवी फटेज का सहारा लिया जा रहा है.  

Latest and Breaking News on NDTV

हालांकि अमेरिका में बैठे खालिस्तानी आतंकी गुरुपवंत सिंह पन्नू ने सोशल मीडिया पर नारे लिखवाए जाने की जिम्मेदारी ली है. इस मामले में मेट्रो पुलिस ने भी केस दर्ज किया है और मामले की जांच की जा रही है. वहीं देश विरोधी इन नारों को मिटा दिया गया है. 

Latest and Breaking News on NDTV

कौन है गुरुपवंत सिंह पन्नू?

 गुरुपवंत सिंह पन्नू इन दिनों चर्चा में बना हुआ है. दरअसल अमेरिका में उसकी कथित तौर पर हत्या की कोशिश की गई थी. हत्या की साजिश का आरोप भारत पर लगाया गया. लेकिन भारत ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है. वहीं रूस का भी कहना है कि अमेरिका के पास इसे लेकर भारत के खिलाफ कोई भी सबूत नहीं है. उसी गुरुपवंत सिंह पन्नू ने अब दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों पर खालिस्तान के समर्थन में नारे लिखवाए जाने की जिम्मेदारी ली है.

पहले भी लिखे गए खालिस्तान के समर्थन में नारे

बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब दिल्ली की दीवारों पर खालिस्तान के समर्थन में नारे लिखे गए हैं. इससे पहले जनवरी महीने में गणतंत्र दिवस के मौके पर भी दिल्ली में ऐसा मामला सामने आया था.उत्तम नगर में खालिस्तान के समर्थन में नारे लिखकर सनसनी फैला दी गई थी. एक सरकारी स्कूल कू दीवार पर इस तरह के नारे लिखे गए थे. हालांकि पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इनको हटवा दिया था. अब एक बार फिर से ऐसा ही मामला सामने आया है. इस बार इस तरह के नारों के लिए भीड़भाड़ वाला करोलबाग और झंडेबालान मेट्रो स्टेशन चुना गया है. 

ये भी पढ़ें-POK में सरकार विरोधी प्रदर्शन जारी, अब तक झड़प में 90 घायल

ये भी पढ़ें-हमारे अस्तित्व पर खतरा आया तो...ईरान ने इजरायल को दी परमाणु नीति बदलने की धमकी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
हरियाणा : कांग्रेस विधायक 20 जून को राज्यपाल से मुलाकात कर करेंगे फ्लोर टेस्ट की मांग
दिल्ली की दीवारों पर फिर लिखे खालिस्तान के समर्थन में नारे, इसके पीछे आतंकी गुरुपवंत पन्नू तो नहीं ?
गम में डूबे परिवार, नहीं जला चूल्‍हा... कुवैत अग्निकांड में बिहार के 2 लोगों की गई है जान
Next Article
गम में डूबे परिवार, नहीं जला चूल्‍हा... कुवैत अग्निकांड में बिहार के 2 लोगों की गई है जान
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;