'वोट बैंक' कहे जाने पर चिंतित कश्मीरी पंडितों का समूह, दिल्ली सीएम केजरीवाल को बताई अपनी समस्या

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कश्मीरी पंडितों से कहा, "मुझे अपना बड़ा भाई समझो. मैं हमेशा तुम्हारे लिए रहूंगा. हमारी आपकी भावनाओं का सम्मान करती है और आपकी चिंताओं को समझती है. आप निश्चिंत रहें, क्योंकि हम आपकी हर समस्या का समाधान करेंगे.''

'वोट बैंक' कहे जाने पर चिंतित कश्मीरी पंडितों का समूह, दिल्ली सीएम केजरीवाल को बताई अपनी समस्या

कश्मीरी पंडितों ने दिल्ली सीएम से की मुलाकात

नई दिल्ली:

दिल्ली में रहने वाले विस्थापित कश्मीरी पंडितों के एक समूह ने मंगलवार को सीएम अरविंद केजरीवाल से उनके आवास पर मुलाकात की. एक आधिकारिक विज्ञप्ति में मुलाकात के बारे में बताया गया, "इस दौरान, कश्मीरी पंडितों ने कहा कि उनका समुदाय बेहद ही निराश और चिंतित है क्योंकि राजनीतिक दल केवल उनके नाम पर राजनीति कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें वोट बैंक की राजनीति के लिए उन्हें मोहरा बनाया गया है."

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, "मुझे अपना बड़ा भाई समझो. मैं हमेशा तुम्हारे लिए रहूंगा. हमारी आपकी भावनाओं का सम्मान करती है और आपकी चिंताओं को समझती है. आप निश्चिंत रहें, क्योंकि हम आपकी हर समस्या का समाधान करेंगे.'' दिल्ली सीएम ने कहा, "हम किसी भी तरह की वोट-बैंक की राजनीति में विश्वास नहीं करते हैं. हम बदलाव में विश्वास करते हैं. हमने पूरे शहर में रैन बसेरे कैसे बनाए हैं. लोग किसी के वोट बैंक नहीं हैं और वे सम्मान के पात्र हैं. मुझे बस आपका प्यार और आशीर्वाद चाहिए, जो हमें आगे बढ़ाता है."

सीएम से मुलाकात के दौरान कश्मीरी पंडितों ने भी उनके सामने अपनी समस्याएं रखीं जिस पर उन्होंने अधिकारियों को उनकी सभी शिकायतों का जल्द से जल्द निवारण करने का निर्देश दिया. उन्होंने बताया कि उन्हें आवंटित कुछ दुकानों को आईएनए के पास स्थानांतरित कर दिया गया है. वहीं बिजली कनेक्शन में भी समस्या आ रही है, जिसे जल्द दूर करने की जरूरत है.

उन्होंने आगे सीएम को एक ज्ञापन सौंपा, जिसमें कहा, "हमें पीडब्ल्यूडी फ्लाईओवर डिवीजन द्वारा आईएनए बाजार में स्थानांतरित कर दिया गया था. लेकिन नए आवंटित कश्मीरी प्रवासी बाजार को अब तक बिजली कनेक्शन नहीं मिला है. हम कश्मीरी प्रवासी हैं और बार-बार अव्यवस्थाओं के कारण पीड़ित हैं, हमारे लिए इतनी बड़ी राशि का भुगतान करना संभव नहीं है और काम पूरा करो."

कश्मीरी पंडितों के समूह ने कहा, "हमें सरकार से सहयोग की जरूरत है ताकि हमें दुकानों की शिफ्टिंग के लिए मुआवजे का भी वादा किया गया था. बाकी बाजारों को प्रति दुकान मुआवजा मिला है. लेकिन हमें कोई राहत नहीं दी गई है." हम आशा करते हैं कि आप स्वयं इस मामले को स्वयं देखेंगे और विभागों को बिना किसी देरी के मुआवजे के साथ 36 दुकानों को बिजली कनेक्शन प्रदान करने का निर्देश देंगे."

ये भी पढ़ें: बच्चे के यौन शोषण के आरोप में शख्स का हाथ काट दिया गया था; अदालत ने किया बरी, कही यह बात

इसके बाद दिल्ली के सीएम ने अधिकारियों को ट्रांसफार्मर लगाने का निर्देश दिया. केजरीवाल ने कहा, "अगर साइट पर कोई ट्रांसफार्मर नहीं है, तो तुरंत ट्रांसफार्मर लगाया जाना चाहिए. इसमें जो भी खर्च होगा वह सरकार द्वारा खर्च किया जाएगा.", केजरीवाल ने कहा कि जिन 17 लोगों की दुकानें शिफ्ट की गई हैं उनका मुआवजा अगर रोक दिया गया है तो उसे भी जल्द से जल्द जारी किया जाए. कश्मीरी दल दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष और विधायक सौरभ भारद्वाज के साथ सीएम से मिलने पहुंचे थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: Cannes में भारत की भागीदारी बहुत महत्वपूर्ण है : FICCI के महानिदेशक