"वह हमेशा दयालु और स्नेही पिता समान थे..." : पूर्व AGI फली नरीमन के निधन पर बोले CJI डी वाई चंद्रचूड़

भारत के पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल फली सैम नरीमन का 21 फरवरी को निधन हो गया. उन्हें 1972 में भारत का एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (ASG) नियुक्त किया गया था. हालांकि, 1975 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के आपातकाल घोषित करने के फैसले के विरोध में उन्होंने इस्तीफा दे दिया था.

नई दिल्ली:

भारत के पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल फली सैम नरीमन (Fali Sam Nariman Passes Away) का बुधवार (21 फरवरी) को निधन हो गया. वे 95 साल के थे. पूर्व AGI के निधन पर भारत के प्रधान न्यायाधीश जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ (CJI DY Chandrachud) ने दुख जताया है. CJI डी वाई चंद्रचूड़ ने फली नरीमन के निधन पर NDTV से कहा, "फली नरीमन के निधन के बारे में जानकर मुझे गहरा दुख हुआ है. उनकी आवाज़ सचमुच एक पीढ़ी की अंतरात्मा का प्रतिनिधित्व करती थी. वो अपने विचारों की अभिव्यक्ति में निडर होकर काम करते रहे. उन्होंने स्पष्टता  के साथ लिखा और बोला."

CJI ने कहा, "फली नरीमन ने वकीलों और न्यायाधीशों की एक पीढ़ी का मार्गदर्शन किया. सबसे बढ़कर वह हमेशा एक दयालु और स्नेही पिता तुल्य थे. हमारे युग के एक महान बुद्धिजीवी का दुखद निधन हो गया है."

भारत के पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल फली सैम नरीमन को दिल से जुड़ी बीमारियां थीं. उन्हें 1991 में पद्म भूषण और साल 2007 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था. वे 1991 से 2010 तक बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रहे थे. 1972 में उन्हें भारत का एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (ASG) नियुक्त किया गया था. हालांकि, 1975 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के आपातकाल घोषित करने के फैसले के विरोध में उन्होंने इस्तीफा दे दिया था.

फली नरीमन के निधन पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई जानी-मानी हस्तियों ने शोक जताया है:-


विश्व स्तर पर सम्मानित न्यायविद-राष्ट्रपति 
राष्ट्रपति द्रौपदी मूर्मू ने X पर लिखा, "मुझे यह जानकर दुख हुआ कि कानूनी दिग्गजों में से एक माने जाने वाले फली नरीमन अब नहीं रहे. हमारे संविधान के सबसे बुद्धिमान विशेषज्ञों में से एक, वह विश्व स्तर पर सम्मानित न्यायविद भी थे. उन्होंने विभिन्न पदों पर देश की सेवा की."

उत्कृष्ट कानूनी दिमाग और बुद्धिजीवियों में शामिल- पीएम मोदी
पीएम मोदी ने लिखा, ''फली नरीमन जी सबसे उत्कृष्ट कानूनी दिमाग और बुद्धिजीवियों में से थे. उन्होंने अपना जीवन आम नागरिकों के लिए न्याय सुलभ कराने के लिए समर्पित कर दिया. उनके निधन से मुझे दुख हुआ है. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और प्रशंसकों के साथ हैं. उसकी आत्मा को शांति मिलें.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

देश ने बुद्धि और ज्ञान की महान हस्ती खो दी- SG तुषार मेहता 
सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि देश ने बुद्धि और ज्ञान की एक महान हस्ती खो दी है. देश ने धार्मिकता का प्रतीक खो दिया है. कानूनी बिरादरी आज बौद्धिक रूप से गरीब है. वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी फली नरीमन की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए इसे एक युग का अंत बताया.