"मैं 135 सीटों से खुश नहीं हूं क्योंकि...", डीके शिवकुमार ने कांग्रेस के लिए रखा बड़ा लक्ष्य

डीके शिवकुमार ने कहा कि हमारा फोकस सही जगह पर होना चाहिए और वो है आम चुनाव. कांग्रेस को अब से हर चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए. और इसके लिए हम सभी को कड़ी मेहनत करनी होगी.

कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने पार्टी के प्रदर्शन पर की टिप्पणी

नई दिल्ली:

कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने बेंगलुरू में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस को अब से हर चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए. साथ ही उन्होंने अगले साल होने वाले आम चुनाव में भी पार्टी के बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद जताई है.

"एक जीत के बाद और मेहनत करना होगा"

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए डीके शिवकुमार ने कहा कि मैं आप सभी के सामने ये स्वीकार करता हूं कि मैं कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली 135 सीटों से खुश नहीं हूं. हमारा फोकस सही जगह पर होना चाहिए और वो है आम चुनाव. कांग्रेस को अब से हर चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए. और इसके लिए हम सभी को कड़ी मेहनत करनी होगी. ये सिर्फ एक शुरुआत है, सिर्फ एक जीत के बाद आप सब सुस्त ना पड़ें. 

कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटें हैं

बता दें कि कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटें हैं. यह राज्य लोकसभा सीटों के मामले में देश का सातवां सबसे बड़ा राज्य है. इसलिए यहां जीत या हार से पार्टी के प्रदर्शन में बड़ा असर पड़ता है. 2019 में हुए आम चुनाव में बीजेपी को कर्नाटक में 25 सीटें मिली थीं. जबकि कांग्रेस और जेडीएस एक-एक सीट ही जीत पाए थे.

कुछ दिन पहले ही नई सरकार ने लिया है शपथ

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया ने शनिवार को राज्य के नए सीएम के तौर पर शपथ ली थी. उनके शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस के साथ-साथ कई विपक्षी पार्टियों के नेता भी शामिल हुए थे. सीएम का पद संभालने के बाद सिद्धारमैया ने चुनाव के दौरान किए गए वादों को जल्द पूरा करने की बात कही. उन्होंने कहा कि हमनें कैबिनेट की पहली बैठक में ही सभी पांच वादों को पूरा करने का आदेश जारी कर दिया है.  

पार्टी के कई नेता रहे थे मौजूद

कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार, जो अपनी पार्टी की जोरदार जीत के बाद सीएम पद के लिए सिद्धारमैया के साथ-साथ प्रबल दावेदार माने जा रहे थे, ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, जो अपनी बहन और पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ इस शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल हुए, ने मंच से यह दोहराया कि उनकी पार्टी ने उन पांच गारंटियों को पूरा किया है जिनका उन्होंने प्रचार के दौरान वादा किया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आठ मंत्रियों के साथ सिद्धरमैया और शिवकुमार ने शपथ ली