गुजरात : गरबा कार्यक्रम में व्‍यवधान के आरोपियों की सार्वजनिक पिटाई के वायरल VIDEO पर NDTV से यह बोले अधिकारी..

NDTV ने इस संबंध में जिला कलेक्‍टर केएल बाचानी और डीएसपी वीआर बाजपेयी से बात की लेकिन दोनों उस घटना की पुष्टि करने की स्थिति में नहीं थे जिसे लेकर तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है.

गुजरात : गरबा कार्यक्रम में व्‍यवधान के आरोपियों की सार्वजनिक पिटाई के वायरल VIDEO पर NDTV से यह बोले अधिकारी..

गुजरात: एक गरबा कार्यक्रम में बाधा डालने और पथराव के आरोपी मुस्लिम युवकों को सार्वजनिक तौर पर पीटा गया

नई दिल्‍ली :

गुजरात के खेड़ा जिले में एक गरबा कार्यक्रम में व्‍यवधान डालने और पथराव के आरोपी मुस्लिम युवकों को पुलिस द्वारा सार्वजनिक तौर पर पीटे जाने के वीडियो सामने आने के 24 घंटे के बाद अधिकारियों ने कहा है कि वे तथ्‍यों की पुष्टि कर रहे हैं. NDTV ने इस संबंध में जिला कलेक्‍टर केएल बाचानी और डीएसपी वीआर बाजपेयी से बात की लेकिन दोनों ने उस घटना की पुष्टि नहीं की जिसे लेकर देशभर में तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है. बाचानी ने कहा, "मैंने एसपी से निजी मीटिंग के लिए कहा था लेकिन वे व्‍यस्‍त हैं, वे संभवत: कल आ सकते हैं. मैंने इसे (वीडियो को) चेक नहीं किया है, इसलिए मैंने मीटिंग बुलाई है. मुझे आईजी (महानिरीक्षक) से भी बात करना है जिन्‍होंने इस स्‍थान का दौरा किया था. वे इस घटना से अवगत होंगे.  "

बाद में उन्‍होंने कहा, "मामला न्‍यायाधीन है. स्‍थानीय कोर्ट ने इस घटना पर संज्ञान लिया है. कोर्ट को इस बारे में फैसला लेने दें." वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी वीआर बाजपेयी ने कहा, "तीन अक्‍टूबर की रात सरपंच ने गरबा का आयोजन किया था. जब गरबा शुरू हुआ तो नजदीक के मुस्लिम समुदाय के लोग एकत्रित हो गए और महिलाओं को गरबा करने से रोक दिया. जल्‍द ही पथराव शुरू हो गया जिसमें महिलाओं और पुरुष घायल हुए. मुस्लिमों ने पथराव शुरू किया. इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है और 13 लोगों को अरेस्‍ट किया गया है. उन्‍होंने अपराध भी कबूल कर लिया है."

सार्वजनिक रूप से पिटाई के बारे में पूछे जाने पर उन्‍होंने कहा, "हमने अभी तक वीडियो की सत्‍यता की पुष्टि नहीं की है. हम अभी मामले की जांच कर रहे है. स्थि‍ति तनावपूर्ण है इसलिए हमारी प्राथमिकता कानून व्‍यवस्‍था को बनाए रखना  है. " गौरतलब है कि खेड़ा जिले में एक गरबा कार्यक्रम में कथित तौर पर पत्‍थर फेंकने के आरोप में गिरफ्तार किए गए मुस्लिम पुरुषों के एक समूह को एक पोल से बांध दिया गया और बाद में पुलिसकर्मियों ने डंडे से इनकी पिटाई की, जिसका वीडियो मंगलवार को वायरल हुआ. रिपोर्ट में कहा गया है कि आरोपियों को जनता से माफी मांगने के लिए कहा गया था. वहां क्षेत्र के प्रभारी पुलिस निरीक्षक भी मौजूद थे. एनडीटीवी स्वतंत्र रूप से इस वीडियो की पुष्टि नहीं कर सकता. 

* "सब पर समान रूप से लागू हो जनसंख्या नियंत्रण कानून..." : दशहरे पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत
* CCTV में कैद : बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर जख्मियों के लिए खड़ी एंबुलेंस में तेज रफ्तार कार ने मारी टक्कर, 5 की मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

LG ने दिये दिल्ली सरकार की फ्री बिजली योजना की जांच के आदेश