विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Nov 14, 2023

दिवाली पर पौने 4 लाख करोड़ रुपये का हुआ खुदरा व्यापार, लोगों ने बढ़-चढ़कर की खरीदारी

त्योहारों के दौरान लगभग 3.75 लाख करोड़ के व्यापार में सबसे ज्यादा करीब 13% हिस्सेदारी खाद्य और किराना का रहा. 12% हिस्सेदारी कपड़ा मार्किट की रही. 9% ज्वेलरी का और करीब 20% हिस्सेदारी ऑटोमोबाइल, हार्डवेयर, इलेक्ट्रिकल, खिलौने समेत अन्य वस्तुओ सेवाओं की रही.

दिवाली पर पौने 4 लाख करोड़ रुपये का हुआ खुदरा व्यापार, लोगों ने बढ़-चढ़कर की खरीदारी
नई दिल्ली:

दिवाली सीजन (Diwali Season)में हर तरफ बाज़ार में सेंटीमेंट बेहतर दिखा. शहरों से लेकर ग्रामीण इलाकों के बाजारों में रौनक रही. 'कंफेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री' के मुताबिक, दिवाली सीजन में इस बार देशभर के बाज़ारों में पौने चार लाख करोड़ तक का बिजनेस हुआ, जो एक रिकॉर्ड है. आने वाले हफ्तों में ये बिजनेस और बढ़ने की उम्मीद है. बाज़ार में कंज्यूमर सेंटीमेंट भी पॉजिटिव है. 

'कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (Confederation of All India Traders) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल कहते हैं, "इस साल दिवाली सीजन में देशभर के बाज़ारों में 3.75 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा का रिकॉर्ड बिजनेस हुआ. ग्राहकों ने इस सीजन में अच्छी खरीददारी की."

कॉम्पटीशन बढ़ने का असर मुनाफे पर
दिल्ली के बंगाली मार्किट में गिरीश अग्रवाल पिछले कई दशकों से मिठाई कारोबार चला रहे हैं. दिवाली सीजन में उनकी 'बंगाली स्वीट्स' ने अच्छा कारोबार किया है. मिठाइयों की बिक्री का वॉल्यूम इस साल काफी बढ़ गया है. हालांकि, बाजार में कॉम्पटीशन बढ़ने का असर मुनाफे पर पड़ा है.

कोरोना संकट के बाद पहली बार बिक्री हुई अच्छी
गिरीश अग्रवाल ने NDTV से कहा, "दिवाली में इस बार सेल अच्छी रही. कोरोना संकट के बाद पहली बार बिक्री अच्छी हुई है." क्या कोरोना के पहले वाला बिक्री का स्तर हासिल कर लिया गया है? इस सवाल के जवाब में गिरीश अग्रवाल कहते हैं, "जी बिलकुल, हासिल कर लिया. इस दिवाली पर सेल कोरोना के पहले वाले स्तर से बेहतर रही."   

आने वाले दिनों में 50 हज़ार करोड़ रुपये का बिजनेस होने की संभावना
वहीं, प्रवीण खंडेलवाल कहते हैं, "अभी गोवर्धन पूजा, भैया दूज, छठ पूजा और तुलसी विवाह बाकी है. इनमें लगभग 50 हज़ार करोड़ रुपये का बिजनेस होने की संभावना है."

हाउसिंग सेक्टर में भी अच्छी रही सेल
PHDCCI के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर रणजीत मेहता कहते हैं, "दिवाली के दौरान रिकॉर्ड सेल देखने को मिली है. सिर्फ कंज्यूमर मार्किट में ही नहीं, बल्कि ज्वेलरी सेक्टर, कारों की बिक्री और हाउसिंग सेक्टर में भी सेल अच्छी हुई है. लोगों की पर्चेसिंग पावर बढ़ी है."

कुल रिटेल ट्रेड में 13% हिस्सेदारी खाद्य और किराना की रही
त्योहारों के दौरान लगभग 3.75 लाख करोड़ के व्यापार में सबसे ज्यादा करीब 13% हिस्सेदारी खाद्य और किराना का रहा. 12% हिस्सेदारी कपड़ा मार्किट की रही. 9% ज्वेलरी का और करीब 20% हिस्सेदारी ऑटोमोबाइल, हार्डवेयर, इलेक्ट्रिकल, खिलौने समेत अन्य वस्तुओ सेवाओं की रही.

ज़ाहिर है कारोबारियों को उम्मीद है कि इस त्योहारों के सीजन ख़त्म होने तक व्यापार और बढ़ेगा. बाज़ार में बिज़नेस सेंटीमेंट भी बेहतर होगा. 

ये भी पढ़ें:-

Dhanteras Video: 5 दिनों के दीपावली उत्सव की शुरुआत, धनतेरस पर देशभर के बाजारों में दिखी रौनक

Dhanteras 2023: धनतेरस पर घर लाएं ये चीजें, धन की देवी मां लक्ष्मी सालभर रहेंगी प्रसन्न

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कंबोडिया में साइबर अपराध में फंसे 14 भारतीयों को मुक्त कराया गया
दिवाली पर पौने 4 लाख करोड़ रुपये का हुआ खुदरा व्यापार, लोगों ने बढ़-चढ़कर की खरीदारी
आतंकियों के ओवरग्राउंड वर्करों और समर्थकों को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने किया गिरफ्तार
Next Article
आतंकियों के ओवरग्राउंड वर्करों और समर्थकों को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने किया गिरफ्तार
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;